Rajasthan के एक और RPS की गंदी करतूत, रात में कांड का VIRAL VIDEO आया सामने

कथित तौर पर यह पूरा प्रकरण दिसंबर 2020 का है लेकिन...

By: JAYANT SHARMA

Updated: 16 Sep 2021, 12:53 PM IST

जयपुर । अपनी कार्यशैली को लेकर हमेशा विवादों में रहने वाले एपीओ किए गए आरपीएस अधिकारी संजीव चौधरी की काली करतूतों का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। आरोप है कि एक शराब ठेके के संचालक ने चूंकि अफसर संजीव चौधरी तक समय पर हफ्ता नहीं पहुंचाया तो उसके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज किया गया। पीड़ित के खिलाफ एक्साइज एक्ट की एक फर्जी कार्रवाई को अंजाम दिया गया। एक फुटेज भी सामने आया है जिसे एपीओ किए गए आरपीएस संजीव चौधरी और मानसरोवर थाने के पुलिसकर्मियों का बताया जा रहा हैं। कथित तौर पर यह पूरा प्रकरण दिसंबर 2020 का है लेकिन संजीव चौधरी के भय के चलते पीड़ित ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज नहीं करवाई।

करीब दस महीने पुराना है केस, अब वायरल हो रहे वीडियो
मामला 10 माह पुराना है। मामला एक शराब के ठेका मालिक से जुड़ा है। सवाल ये उठता है कि आखिर बोतल से जिन्न निकलने में इतना समय क्यों लगा। तो कहानी कुछ यूं हैं कि हाल ही में संजीव चौधरी को वकीलों के साथ मारपीट और बदसलूकी करने के प्रकरण में डीजीपी एमएल लाठर ने एपीओ किया था। इसकी जानकारी मिलते ही पीड़ित का हौसला बढ़ा और उसने डीजीपी एमएल लाठर से मुलाकात की, अपनी आपबीती सुनाई और पूरे प्रकरण की शिकायत लिखित में डीजीपी को सौंप दी।

ठेके पर था आरपीएस चैधरी का आना जाना
पीड़ित ने अपनी शिकायत में इस बात का जिक्र किया है कि वह नारायण विहार में शराब के ठेके का संचालन करता है। वहां तत्कालीन मानसरोवर एसीपी संजीव चौधरी का आना जाना था। पीड़ित संजीव चौधरी को शराब और मीट भेजा करता था। इसके अलावा पीड़ित समय पर हफ्ता भी संजीव चौधरी को दिया करता था। लॉकडाउन के चलते शराब के ठेके बंद होने पर पीड़ित ने हफ्ता वसूली में कटौती की। जिसको लेकर संजीव चौधरी काफी नाराज हुए थे।

दो गाडियों को एक्साइज एक्ट में बंद किया, केस ठोके
बताया जा रहा है कि संजीव चौधरी ने बदला लेने की नीयत से पीड़ित के ठेके के बाहर पहुंचकर अपने गनमैन, चालक और मानसरोवर थाने के पुलिसकर्मियों के सहयोग से पीड़ित की दो गाड़ियों को पार्किंग स्थल से ठेके के बाहर लाकर खड़ा कर दिया। उसके बाद ठेके से देसी और अंग्रेजी शराब के कार्टन लाकर गाड़ी में रखवाए और दोनों गाड़ियों को एक्साइज एक्ट के तहत सीज कर दिया। संजीव चौधरी ने एक्साइज एक्ट की कार्रवाई में पीड़ित की कार को सीज करना और क्रेन की मदद से ठेके से पुलिस थाने तक लाने का जिक्र किया है।

सीसी फुटेज ने खोल दिए पूरे राज, वर्दी वाले ही शराब रखते दिख रहे
वहीं इस पूरे घटनाक्रम से संबंधित जो सीसीटीवी फुटेज पीड़ित ने पुलिस मुख्यालय को दिया है। उसमें साफ दिखाई दे रहा है कि किस तरह पुलिसकर्मी खुद गाड़ी को चलाकर ठेके के बाहर ला रहे हैं और क्रेन के जरिए एक्सेंट गाड़ी की बजाए पिकअप को ले जा रहे हैं। फिलहाल डीजीपी ने पीड़ित को इस प्रकरण में त्वरित और उचित कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया है। साथ ही पीड़ित ने पूरे प्रकरण की शिकायत एसीबी मुख्यालयऔर जयपुर पुलिस कमिश्नर तक पहुंचा दी है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned