राजस्थान के सियासी संग्राम में माकपा की भूमिका, कहा: हम फ्लोर टेस्ट में करेंगे फैसला, देखें वीडियो

माकपा के राज्य सचिव अमराराम बोले: हम दोनों दलों से रखेंगे बराबर की दूरी, जब फ्लोर टेस्ट होगा, तब निर्णय करेंगे

By: pushpendra shekhawat

Published: 20 Jul 2020, 07:33 PM IST

अश्विनी भदौरिया / जयपुर. माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के प्रदेश सचिव अमराराम ने सोमवार को कहा कि इस सियासी संकट में हमारी पार्टी तटस्थ है। न तो हम भाजपा के साथ हैं और ही कांग्रेस के साथ। फ्लोर टेस्ट के दौरान पार्टी की भूमिका पर उन्होंने कहा कि जब फ्लोर टेस्ट होगा, तब निर्णय करेंगे।

विधायक बलवान पूनियां के कांग्रेस खेमे में जाने पर उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव के बाद से वह निलम्बित हैं। हमें उम्मीद है कि वो पार्टी का निर्णय मानेगा। अमराराम ने कहा कि राज्य की जनता की चिंता न तो सरकार को है और न ही विपक्ष को। जनता की जेब पर सरकार भार डाल रही है और विपक्ष चुप बैठा है।


मजदूर किसान भवन पर हुई पत्रकारों से बातचीत में पार्टी के दूसरे विधायक गिरधारी लाल महिया ने कहा कि प्रजातंत्र का गला घोंटने का काम किया जा रहा है। विधायकों को बंधक बना लिया गया है। सरकार ताकत का इस्तेमाल कर रही है। 19 विधायकों की सदस्यता खत्म करने का खेल चल रहा है।

कांग्रेस में आपसी घमासान है। जब राजनीतिक स्टैंड लेने की बात आएगी तो स्टेट कमेटी तय करेगी। मैं पार्टी के साथ हूं। पायलट खेमे में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अब तक मैं अपने विस क्षेत्र में था। मैं किसी भी खेमे में नहीं गया हूं।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned