scriptRajasthan: Result of 30 thousand students stuck for six months | Rajasthan: 30 हजार विद्यार्थियों का छह माह से परिणाम अटका | Patrika News

Rajasthan: 30 हजार विद्यार्थियों का छह माह से परिणाम अटका

इंटरनल असाइनमेंट के अंक समय पर नहीं जोड़े जाने से एक लाख से अधिक विद्यार्थी प्रभावित हुए हैं। छह महीने पहले लिखित परीक्षाएं हो गई, लेकिन इंटरनल असाइनमेंट के अंक नहीं जोड़े जाने से अभी भी 30 हजार से अधिक विद्यार्थियों की अंक तालिकाएं अटकी हुई है।

जयपुर

Published: May 17, 2022 07:08:37 pm

इंटरनल असाइनमेंट के अंक समय पर नहीं जोड़े जाने से एक लाख से अधिक विद्यार्थी प्रभावित हुए हैं। छह महीने पहले लिखित परीक्षाएं हो गई, लेकिन इंटरनल असाइनमेंट के अंक नहीं जोड़े जाने से अभी भी 30 हजार से अधिक विद्यार्थियों की अंक तालिकाएं अटकी हुई है।
Kota Open University RSCIT result 2019
Kota Open University RSCIT result 2019
कोटा, बीकानेर और उदयपुर के विद्यार्थी सर्वाधिक प्रभावित हैं, जहां बहुत कम छात्रों के इंटरनल असाइनमेंट जोड़े गए हैं। द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती के बाद अब प्रथम श्रेणी शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं। अगर छात्रों को समय पर परिणाम नहीं मिलता है तो वे आवेदन से वंचित रह सकते हैं। इसके अलावा अनेक विद्यार्थी आगे की कक्षाओं में प्रवेश के लिए भी मोहताज बने हुए हैं।
आधे से अधिक छात्र जोधपुर संभाग के
प्रदेश के 30 हजार विद्यार्थियों का छह माह से परिणाम अटका, कई प्रतियोगी परीक्षा से वंचित
वर्द्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय कोटा के प्रदेशभर के समस्त विद्यार्थियों को इस साल भारी समस्या का सामना करना पड़ा है। 60,000 जोधपुर संभाग के हैं छात्र-छात्राएं 15,000 विद्यार्थी है जयपुर संभाग के 7,000 विद्यार्थी बीकानेर के 5,000 से अधिक विद्यार्थी कोटा से 4500 से अधिक विद्यार्थी अजमेर के 3500 करीब विद्यार्थी भरतपुर के हैं।

अक्टूबर में परीक्षा

छात्रों की गत वर्ष अक्टूबर-नवम्बर में परीक्षाएं हो गई थी लेकिन केवल इंटरनल असाइनमेंट की जांच व्यवस्था फैल होने से उन्हें डिग्री नहीं मिल रही है।

प्रेक्टिल के मार्क्स
इंटरनल मार्क्स के अलावा कुछ छात्रों के प्रेक्टिल के अंक जोडऩे में देरी होने से भी उन्हें अंक तालिका नहीं मिल रही है। जोधपुर के एक छात्र ने जनवरी 2021 में परीक्षा दी थी लेकिन विभिन्न कारणों से उसे अब तक डिग्री नहीं मिल सकी है।
ऑनलाइन असाइनमेंट, समय पर जांचे नहीं

कोटा खुला विवि में स्नातक स्तर पर 70 अंक की लिखित परीक्षा व 30 अंक का इंटरनल असाइनमेंट होता है। स्नातकोत्तर स्तर पर 80 अंक की लिखित परीक्षा और 20 अंक का इंटरनल असाइनमेंट होता है। अब तक इंटरनल असाइनमेंट ऑफलाइन होता आया था लेकिन गत वर्ष से इसे ऑनलाइन कर दिया गया। छात्रों को वेबसाइट से असाइनमेंट फॉर्म डाउनलोड करके उसमें उत्तर लिखकर स्कैन करके वापस अपलोड करना होता है। कई छात्रों ने ऑफलाइन असाइनमेंट भी भेजे जिसके चलते कोटा विवि के क्षेत्रीय कार्यालयों को खुद स्कैन करके भेजने पड़े। असाइनमेंट को ऑनलाइन ही शिक्षकों के पास जांचने के लिए भेजा रहा है, जहां से वापस आने में देरी हो रही है।
जोधपुर संभाग के 90 फीसदी से अधिक विद्यार्थियों के इंटरनल असाइनमेंट जुड़ चुके हैं। फिर भी कोई समस्या हो तो कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है। - सुरेंद्र कुलश्रेष्ठ, क्षेत्रीय अधिकारी, कोटा खुला विवि जोधपुर
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.