रोडवेज के अच्छे दिन: आठ लाख से बढ़कर तीन करोड़ हुई रोडवेज की आय

लॉकडाउन के बाद बेपटरी हुई राजस्थान रोडवेज की बस फिर से दौड़ने लगी है। पांच महीनों में रोडवेज के यात्रीभार के साथ आय में बढ़ोतरी हो रही है।

By: kamlesh

Published: 18 Oct 2020, 05:10 PM IST

विजय शर्मा/जयपुर। लॉकडाउन के बाद बेपटरी हुई राजस्थान रोडवेज की बस फिर से दौड़ने लगी है। पांच महीनों में रोडवेज के यात्रीभार के साथ आय में बढ़ोतरी हो रही है। जून में शुरुआती समय में जहां आठ लाख रुपए आय हो रही थी, वहीं अब आंकड़ा तीन करोड़ पहुंच गया है। इतना ही नहीं यात्रियों की आवाजाही बढ़ने से 135 से बढ़कर 2200 बसें प्रदेश में संचालित हो रही हैं।

प्रदेश के साथ अब दूसरे राज्यों में भी बसों का संचालन शुरू हो गया है। जैसे—जैसे त्यौहारी सीजन के दिन बढ़ रहे हैं, यात्रियों की आवाजाही अधिक हो रही है। इसी बात को ध्यान रखते हुए अब रोडवेज ने 1100 बसें अतिरिक्त तैयार करवाई है। रोडवेज दिवाली के सीजन में पांच करोड़ आय का लक्ष्य लेकर चल रहा है।

संक्रमण से बचने के लिए 47 हजार ले रहे ई—टिकट
रोडवेज के इतिहास में पहली बार ई—टिकट लेने वाले यात्रियों का ग्राफ बढ़ा है। यह कोरोनाकाल में ही संभव हुआ है। बस स्टैंड या बस में टिकट लेने के बजाय लोग ऑनलाइन ई—टिकट ले रहे हैं। वर्तमान में 47 हजार यात्री रोज ई—टिकट ले रहे हैं। जून में ई—टिकट लेने वालों का ग्राफ तीन हजार था।


अब यह है राजस्थान रोडवेज की स्थिति
——2174 बसें संचालित की जा रही हैं

——5349 फेरे लगा रही बस

——09 नौ लाख किमी चल रही हैं बस

——03 करोड़ रुपए रोज आय होने रही

—73 फीसदी यात्रीभार हुआ

—4.10 लाख यात्री सफर कर रहे

——47 हजार ऑनलाइन टिकट ले रहे

दिवाली पर यात्रियों के लिए विशेष व्यवस्था है। 1100 बसें एबीसीडी अभियान के तहत तैयार कराई है। यात्रियों की भीड़ देखकर स्टैंडों पर लगा दिया जाएगा। सोशल डिस्टेसिंग को ध्यान रख बसों का संचालन किया जा रहा है। रोडवेज की आय बढ़ रही है।
नवीन जैन, सीएमडी रोडवेज

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned