सार्वजनिक परिवहन बंद, फिर भी कर्मचारियों को बुलाने के आदेश

शनिवार को दिनभर चर्चा रही कि जब रोडवेज बसों का संचालन ही नहीं होगा तो कार्मिकों को क्यों बुलाया जा रहा है।

By: surendra kumar samariya

Published: 18 Apr 2020, 10:21 PM IST

मोडिफाइड लॉकडाउन ( lockdown ) को लेकर राजस्थान सरकार ने सार्वजनिक परिवहन बंद रखने के आदेश दिए है। इसके बावजूद राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम मुख्यालय ( Rajasthan roadway ) से कार्यालय खोलने के आदेश जारी हो गए है। ऐसे में अधिकारियों और कर्मचारियों में शनिवार को दिनभर चर्चा रही कि जब रोडवेज बसों का संचालन ही नहीं होगा तो कार्मिकों को क्यों बुलाया जा रहा है।

शुक्रवार को मुख्यालय के कार्यकारी निदेशक प्रशासन की ओर से आदेश जारी किए गए। इसमें रोडवेज के सभी विभागाध्यक्ष ,मुख्यालय के सभी अधिकारी ,डिपो के मुख्य प्रबंधक सहित सभी प्रबंधक ,केंद्रीय भंडार ,केंद्रीय कार्यशाला, टायर प्लांट के अधिकारी एवं सभी प्रभारियों को नियमित रूप से कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश है। साथ ही सभी कार्यालयों के मंऋालयिक कर्मचारियों को एक तिहाई रोटेशन से उपस्थित के आदेश है। आदेश में आमजन का मुख्यालय में प्रवेश भी निषेध किया गया है।

इस आदेश के बाद कर्मचारियों में संशय हो गया है कि क्या करें। अब देखना होगा कि रोडवेज में लगभग 16 हजार कर्मचारी एवं अधिकारी कार्यरत हैं तो एक तिहाई अनुसार 5 से 6 हजार कार्मिक कोरोना वायरस ( Corona virus ) के प्रभाव के दौरान कार्यालय में बिना किसी कार्य के कैसे आएंगे। वहीं, संक्रमण बढने का खतरा भी हो सकता है। निगम ने अपने आदेश में चालक, परिचालक के बारे में नहीं लिखा है।

Corona virus
surendra kumar samariya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned