राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल का (मार्च से मई 2020) 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी

डूंगरपुर जिले की सर्राह टेलर 84.40 फीसदी अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर

पुरुष वर्ग में जालौर के कमलेश कुमार 83.60 फीसदी अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर

सर्राह को दिया जाएगा 21000 का मीरा पुरस्कार

कमलेश को मिलेगा 21000 रुपए का एकलव्य पुरस्कार

शिक्षा राज्य मंत्री ने की दिव्यांगों को निशुल्क शिक्षा दिए जाने की घोषणा

मेधावी बच्चे करेंगे हवाई यात्रा
मुख्यमंत्री के स्तर पर होगा स्कूल खोले जाने का निर्णय

By: Rakhi Hajela

Updated: 31 Dec 2020, 08:20 PM IST


राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल का (मार्च से मई 2020) 12वीं का परीक्षा परिणाम 35.70 फीसदी रहा है। शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने गुरुवार को शिक्षा संकुल सभागार से परीक्षा का परिणाम जारी करते हुए प्रथम स्थान पर रहे विद्यार्थियों से फोन पर बात की और उन्हें बधाई दी। डोटासरा ने बताया कि इस वर्ष का परीक्षा परिणाम गत वर्ष की तुलना में 0.34 फीसदी अधिक रहा। पुरुषों का परीक्षा परिणाम 33.10 फीसदी जबकि महिलाओं का परिणाम 37.25 फीसदी रहा। इस वर्ष पुरुषों की तुलना में महिलाओं का परिणाम 4.15 फीसदी अधिक रहा। परीक्षा में राज्य स्तर पर डूंगरपुर जिले की सर्राह टेलर 84.40 फीसदी अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर रही। जिन्हें स्टेट ओपन की ओर से 21 हजार रुपए का मीरा पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार पुरुष वर्ग में जालौर के कमलेश कुमार 83.60 फीसदी अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर रहे। इन्हें 21 हजार रुपए का एकलव्य पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर भी प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले एक महिला और एक पुरुष परीक्षार्थी को 11 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा।

दिव्यांग छात्रों को मिलेगी अब निशुल्क शिक्षा
परीक्षा परिणाम जारी करने के दौरान शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने की दिव्यांग विद्यार्थियों को भी निशुल्क शिक्षा दिए जाने की घोषणा की। उनका कहना था कि कक्षा 10 और 12वीं में मिलेगी दिव्यांगों को निशुल्क शिक्षा स्टेट ओपन के तहत दी जाएगी।
विवेकानंद मॉडल स्कूलों में प्री प्राइमरी स्कूल खोले जाएंगे
उन्होंने प्रदेश के सभी विवेकानंद मॉडल स्कूलों में प्री प्राइमरी की शुरुआत किए जाने का भी एलान किया। डोटासरा का कहना कि प्रदेश के सभी 167 मॉडल स्कूलों में प्री प्राइमरी खोली जाएगी।
एनसीटीई गाइडलाइन की हो रही समीक्षा
इस दौरान बीएसटीसी अभ्यर्थियों की ओर से रीट लेवल वन में उन्हें शामिल किए जाने की मांग को लेकर शिक्षा राज्य मंत्री का कहना था कि एनसीटीई की गाइडलाइन की फिर से समीक्षा की जा रही है। समीक्षा के चलते विज्ञप्ति जारी करने में हुई देरी, जल्द ही समस्या का समाधान विज्ञप्ति जारी की जाएगी। इस दौरान बीएसटीसी के अभ्यार्थियों ने शिक्षा राज्यमंत्री को भी अपनी इसी मांग को लेकर ज्ञापन दिया।
भरे सभागार में लगाई सचिव को लताड़
परिणाम जारी करने से पहले शिक्षा राज्यमंत्री ने स्टेट ओपन स्कूल के सचिव को लताड़ लगा दी। दरअसल सचिव परिणाम जारी करने से पहले उन्हें किसी योजना की जानकारी देना चाहते थे। ऐसे में डोटासरा ने उन्हें लताड़ लगाते हुए कहा कि सचिव साहब अपनी लिमिट में रहो।
मोदी जी मेहरबानी होगी तब मिलेगा पूरा पैसा
वहीं आरटीई की राशि को लेकर उनका कहना था कि जब मोदी जी की मेहरबानी हो जाएगी तब मिलेगा पूरा पैसा मिलेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बकाया राशि का भुगतान अब तक नहीं किया है। हम जैसे तैसे काम चला रहे हैं। गौरतलब है कि दो दिन पहले सरकार ने आरटीई का दिया 34 करोड़ का बजट स्वीकृत किया है।
जल्द खुल सकते हैं स्कूल
स्कूल खोले जाने को लेकर उनका कहना था कि कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूल जल्द खोले जा सकते हैं लेकिन पहली से आठवीं कक्षा तक के स्कूल खोलने का सरकार का अभी कोई विचार नहीं है। उन्होंने कहा कि स्कूल खोले जाने का निर्णय मुख्यमंत्री के स्तर पर ही किया जाएगा। शिक्षक तबादलों को लेकर उनका कहना था कि तबादला नीति को स्वीकृति मिलने के बाद तबादला प्रक्रिया आरंभ की जाएगी। मुख्यमंत्रीस्तर पर ही इस संबंध में अंतिम निर्णय होगा।
मेधावी छात्रों को शिक्षा विभाग करवाएगा हवाई सफर
इस दौरान उन्हें शिक्षा प्रन्यास योजना की जानकारी देते हुए कहा कि विभाग प्रदेश के चयनित 50 मेधावी विद्यार्थियों को राजस्थान या अन्य राज्यों का हवाई सफर भी करवाएगा। उनका कहना था कि पहले बच्चे बस से शैक्षणिक भ्रमणपरजाते थे लेकिन अब उन्हें हवाई जहाज में सफर का मौका मिलेगा स्थितियां सामान्य होते ही इसकी शुरुआत की जाएगी।
शिक्षा मंत्री ने दिए जांच के आदेश

शिक्षा राज्य मंत्री ने स्टेट ओपन की ओर से छपवाए गए कैलेंडर में रही खामियों को दूर करने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने इस मामले की जांच के आदेश भी दिए। परीक्षा परिणाम जारी करते हुए उन्होंने कैलेंडर का विमोचन किया था। इस दौरान स्टेट ओपन की ओर से मुख्यमंत्री प्रधान कोष में 5.86 लाख रुपए की राशि दी गई। ओपन बोर्ड के अधिकारियों ने शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को इसका चैक सौंपा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned