राजस्थान विश्वविद्यालय में शिक्षकों का सत्याग्रह जारी

- शिक्षकों को मिला विवि के कार्मिकों का समर्थन
- नॉन टीचिंग और तकनीकी कार्मिकों ने कहा
सिंडीकेट की बैठक शीघ्र बुलाए विवि अन्यथा किया जाएगा विवि बंद
- एक सप्ताह से अधिक समय से सत्याग्रह पर है शिक्षक

By: Jaya Gupta

Updated: 04 Oct 2021, 09:06 PM IST


जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय शिक्षक संघ की ओर से चल रहा सत्याग्रह को सोमवार को विवि के कार्मिकों का भी समर्थन मिल गया है। सोमवार को अशैक्षणिक कर्मचारी संघ के अध्यक्ष यशपाल चिराना, सहायक कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रतनलाल और तकनीकी कर्मचारी संघ के उपाध्यक्ष शंकर कुलपति सचिवालय के बाहर शिक्षकों के सत्याग्रह स्थल पर पहुंचे और शिक्षकों को अपना समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि यदि कुलपति ने शीघ्र ही सिंडीकेट नहीं बुलाई तो विश्वविद्यालय बंद की घोषणा कर दी जाएगी जिसकी पूरी जिम्मेदारी कुलपति की होगी।
गौरतलब है कि सिंडीकेट की बैठक बुलाए जाने की मांग को लेकर पिछले एक सप्ताह से शिक्षक धरने पर हैं। उनका कहना है कि ग्रीवांस कमेटी के मिनिट्स सिंडीकेट में पारित करवाए जाएं यदि विवि प्रशासन ऐसा नहीं करता है तो राजकीय सेवा से आए शिक्षकों को पदोन्नति का लाभ उनके पूर्व सेवा को जोड़कर नहीं मिलेगा। राजस्थान विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के महासचिव संजय कुमार ने कहा कि सलेक्शन स्केल की प्रक्रिया भी इस वजह से लंबित हो रही है, हम कुलपति से सिंडीकेट बुलाए जाने की मांग कर रहे हैं जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती हमारा सत्याग्रह जारी रहेगा।
---------------

Jaya Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned