मेरे से चर्चा बिना सरकार कैसे बुला सकती सत्र : कैलाश मेघवाल

पंद्रहवीं विधानसभा के पहले सत्र के लिए अधिसूचना पर तनातनी

By: hanuman galwa

Published: 10 Jan 2019, 06:55 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

पंद्रहवीं विधानसभा का पहला सत्र 15 जनवरी को आहूत किए जाने पर राज्यपाल की मंजूरी के बावजूद विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने समन जारी करने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार 21 दिन से कम अवधि के नोटिस पर विधानसभा अध्यक्ष की चर्चा के बिना सत्र नहीं बुला सकती है।

विधानसभा भवन में अध्यक्ष कक्ष में गुरुवार को बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने विधानसभा सत्र को लेकर प्रक्रिया के स्तर पर हुई चूक की ओर ध्यान दिलाया। उन्होंने कहा कि नियमों की पत्रावली में स्पष्ट रूप से लिखा हुआ है कि विधानसभा का सत्र 21 दिन के अंतर से बुलाया जाए। उन्होंने कहा कि पहले यह अंतर 14 दिन हुआ करता था, जिसे विधायकों की सुविधा के लिए बदल कर 21 दिन कर दिया गया। उन्होंने कहा कि 21 दिन की इस अवधि को कम करने का अधिकार भी विधानसभा अध्यक्ष के पास है। उन्होंने कहा कि 15 जनवरी को सत्र बुलाने के लिए 21 दिन के अंतर की जगह 7 दिन पहले उन्हें सूचना मिली। इसके बाद नोटिस जारी करने के बाद 6 दिन ही शेष बचते हैं। उन्होंने कहा कि छह दिन के नोटिस पर किसी भी सूरत में विधानसभा सत्र के लिए समन जारी नहीं किया जा सकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned