scriptRajasthan: बारिश नहीं हुई तो यह शहर रह जाएगा प्यासा, बांध में अब 30 प्रतिशत से भी कम पानी | rajasthan water crisis bisalpur damp empty jaipur will thirsty rajasthan rain is most important | Patrika News
जयपुर

Rajasthan: बारिश नहीं हुई तो यह शहर रह जाएगा प्यासा, बांध में अब 30 प्रतिशत से भी कम पानी

राजधान में 50 लाख की आबादी वाले शहर के लिए लाइफ लाइन बना यह बांध भीषण गर्मी के दौर में तेजी से रीत रहा है। बांध से प्रतिदिन 2 से 3 सेंटीमीटर पानी लिया जा रहा है और बांध में अब 30 प्रतिशत से भी कम पानी रह गया है।

जयपुरJun 03, 2024 / 07:27 am

Lokendra Sainger

राजधानी जयपुर शहर की 50 लाख की आबादी के लिए लाइफ लाइन बन चुका बीसलपुर बांध भीषण गर्मी के दौर में तेजी से रीत रहा है। बांध से प्रतिदिन 2 से 3 सेंटीमीटर पानी लिया जा रहा है और बांध में अब 30 प्रतिशत से भी कम पानी रह गया है। रविवार को बांध का जल स्तर 310.20 आरएल (रिड्यूस्ड लेवल)मीटर रह गया, जो बांध की कुल भराव क्षमता का 29.33 फीसदी है।
उधर बांध के रीतने की स्थिति को देख जल संसाधन विभाग और जलदाय इंजीनियरों को वर्ष 2010 के हालात याद आ रहे हैं, जब बांध का जल स्तर महज 298.67 आर एल मीटर दर्ज किया गया था। प्रदेश में पिछले वर्ष भी मानसून ठीक नहीं रहा और बीसलपुर बांध में पानी की कम आवक हई थी।

दावा दिसंबर तक का, अभी से संकट शुरू

बीसलपुर बांध में पानी की स्थिति को लेकर जयपुर शहर के जलदाय इंजीनियर दावा कर रहे हैं कि बांध में दिसंबर तक के लिए पर्याप्त पानी है। इस दावे की हकीकत मई के महीने की भीषण गर्मी में ही सामने आ गई और पूरे शहर में बूंद-बूंद पानी का संकट शुरू हो गया है। करीब हफ्ते भर पहले ही महिलाओं ने आधी रात को झोटवाड़ा में पंप हाउस पर कब्जा कर लिया गया था और हाल ही जामड़ोली में पंप हाउस पर लोगों ने ताला लगा दिया। जून के महीने में भी गर्मी के तेवर नरम पड़ने की उम्मीद कम ही है. ऐसे में मानसून के दौरान बांध में पानी की आवक नहीं हुई तो शहर में पानी की बूंद-बूंद के लिए हाहाकार मचेगा।
यह भी पढ़ें

कांग्रेस अध्यक्ष खरगे का राजस्थान को लेकर बड़ा ऐलान, बता दिया मिल रही हैं इतनी सीटें

नए पंपिंग स्टेशन से केवल 2 एमएलडी पानी की सप्लाई

बीसलपुर बांध में दिसंबर तक का पानी होने के आंकडों की हकीकत भी पिछले महीने ही जलदाय इंजीनियरों ने देख ली। झालाना में भू जल विभाग परिसर में 1 करोड 30 लाख लीटर क्षमता के नव निर्मित पंपिंग स्टेशन से महज 20 लाख लीटर यानी 2 एमएलडी (मिलियन ऑफ लीटर्स प्रति दिन)पानी सप्लाई किया जा रहा है। इंजीनियर ही कह रहे हैं कि इतना पानी नहीं है कि नए पंपिंग स्टेशन से पूरी क्षमता से सप्लाई की जा सके।

जब जल स्तर रह गया 298 .67 आर एल मीटर

बांध का पानी जिस तरह रीत रहा, उससे जलदाय इंजीनियरों में खलबली मची हुई है और 2010 की स्थिति को याद कर रहे हैं, जब बांध का जल स्तर 300 आरएल मीटर से भी नीचे आकर 298 .67 आर एल मीटर रह गया था। तब बांध से पानी की सप्लाई पर संकट आ गया था।

Hindi News/ Jaipur / Rajasthan: बारिश नहीं हुई तो यह शहर रह जाएगा प्यासा, बांध में अब 30 प्रतिशत से भी कम पानी

ट्रेंडिंग वीडियो