पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी, हाड़ौती में झमाझम के बाद उफनी नदियां, कई मार्ग बंद

Rajasthan Weather Forecast : मौसम विभाग ( IMD ) ने एक बार फिर से पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश ( Heavy Rain in Rajasthan ) की संभावना जताई है। हाड़ौती में एक बार फिर से झमाझम बारिश हुई जिससे नदियां उफन पड़ी और कई मार्ग बंद हो गए...

By: dinesh

Updated: 10 Sep 2019, 10:08 AM IST

जयपुर। मौसम विभाग ( IMD ) ने एक बार फिर से पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश ( Heavy Rain in Rajasthan ) की संभावना जताई है। विभाग के अनुसार ( Rajasthan Weather Forecast ) प्रदेश के पूर्वी भागों सहित पश्चिमी मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, सौराष्ट्र और कच्छ में भारी बारिश की संभावना है। वहीं दक्षिण पश्चिमी और पश्चिमी मध्य अरब सागर के कुछ क्षेत्रों में 40 से 50 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। वहीं प्रदेश के बूंदी जिले में आज मंगलवार को जोरदार बारिश का दौर चला।

हाड़ौती में एक बार फिर से झमाझम बारिश हुई जिससे नदियां उफन पड़ी और कई मार्ग बंद हो गए। बूंदी के रटलाई कस्बे मंगलवार सुबह 6:30 बजे हल्की बूंदाबांदी शुरु हुई जिसके बाद आसमान से तेज गर्जना के साथ बिजली कडकऩे के बाद जोरदार बारिश शुरू हो गई। जिससे उमस और गर्मी से परेशान लोगों को राहत मिली। इस दौरान कस्बे की बिजली गुल हो गई जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं बीसलपुर बांध ( Bisalpur Dam ) में पानी की आवक लगातार जारी रहने से गेट नम्बर 9 व 10 से पानी की निकासी जारी है। दोनों गेट 2-2 मीटर खोलकर प्रति सेकण्ड 24 हजार 40 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।

कोटा बैराज ( Kota Barrage ) के 15 गेट खोल पानी की निकासी
हाड़ौती में रविवार देर रात से झमाझम बारिश हो रही है, जिससे एक बार फिर नदियां उफन गई। कई मार्ग बंद हो गए। तेज बारिश के बाद चौमहला में दिल्ली-मुम्बई ट्रेन मार्ग बाधित रहा तो दरा-अरनिया मार्ग भी बंद रहा। कोटा में इस सीजन में बारिश ( Heavy Rain in Kota ) ने रेकॉर्ड कायम किया है। कोटा का बारिश औसत 640 एमएम है, लेकिन पिछले दो माह में 1252.6 एमएम बारिश हो चुकी है। बांसवाड़ा में माही और एराव नदी से पानी की आवक बनी रहने से माही बांध ( Mahi Dam ) के चार गेट खुले रहे।


दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पांच घंटे बाधित
नागदा-कोटा रेलखंड में तेज बारिश के चलते ट्रेक पर पानी भर गया, जिससे पांच घंटे तक रेलमार्ग ठप रहा। मुंबई और दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों को रास्ते में रोकना पड़ा। थूरिया, चौमहला और तलावली स्टेशन के निकट रेलवे ट्रेक पानी में डूब गया, जिससे कई ट्रेनों को रास्ते में रोकना पड़ा तथा 20 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनों को निकाला गया। बूंदी जिले में खटकड़, करवर, तालेड़ा व इन्द्रगढ़ में आधे घंटे बारिश हुई। वही कोटा बैराज से पानी की निकासी करने से रोटेदा-मंडावरा के बीच बनी पुलिया जलमग्न हो गई।

 

File Photo

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned