राजस्थान में मानसून की विदाई का क्रम जारी, इस बार उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा मेहरबान नहीं

पश्चिमी राजस्थान से मानसून ने अलविदा कह दिया है। मौसम विभाग विभाग के मुताबिक बीकानेर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, अमृतसर और बठिंडा के रास्ते मानसून की निकासी हो रही है।

By: santosh

Published: 02 Oct 2020, 11:23 AM IST

जयपुर। पश्चिमी राजस्थान से मानसून ने अलविदा कह दिया है। मौसम विभाग विभाग के मुताबिक बीकानेर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, अमृतसर और बठिंडा के रास्ते मानसून की निकासी हो रही है। अन्य जगहों पर भी मानूसन की विदाई का क्रम जारी है।

हालांकि इस बार मानसून उम्मीद के मुताबिक पूरी तरह से मेहरबान नहीं हुआ। इसके साथ सूर्यदेव के तेवर भी लगातार तीखे होते जा रहे हैं। राजधानी जयपुर में शुक्रवार सुबह का तापमान 29 डिग्री सेल्यियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं गुरुवार को यह 36.6 डिग्री दर्ज किया गया। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान चूरू का 40.6, श्रीगंगानगर का 39.9, पिलानी का 39.9, फलौदी का 37.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

मौसम रहेगा शुष्क:
मौसम विभाग के मुताबिक आगामी सात दिनों में प्रदेश में सभी जगहों पर मौसम शुष्क रहेगा। साथ ही सूर्यदेव के तेवर ओर तीखें होंगे। कहीं भी बारिश का अलर्ट फिलहाल जारी नहीं किया गया है।

अब तक की बारिश का गणित:
मौसम विभाग जयपुर केंद्र के निदेशक आरएस शर्मा ने बताया कि इस बार राज्य में मानसून ने 24 जून को दस्तक दी थी। सामान्य तौर पर मानसून 18 सितंबर के आसपास राज्य से विदाई लेता है लेकिन इस बार यह 28 सितंबर को वापस होना शुरू हुआ। यानी लगभग दस दिन ज्यादा रुका। इस दौरान राज्य में सामान्य 415 मिलीमीटर से आठ प्रतिशत ज्यादा 449.8 मिलीमीटर बारिश हुई।

पूर्वी राजस्थान में सामान्य की तुलना में 98 प्रतिशत व पश्चिम राजस्थान में 127 प्रतिशत बारिश हुई। राज्य के 33 जिलों में से एक जिले में बहुत अधिक, दस में सामान्य से अधिक, 16 जिलों में सामान्य जबकि छह जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई। अलवर, बारां, बूंदी, टोंक, झुंझुनूं व धौलपुर में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई। वहीं जोधपुर जिले में सामान्य से बहुत अधिक, 60 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई।

Weather forecast weather update

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned