हनुमान बेनीवाल के लिए राजेन्द्र राठौड़ ने बोल दिया कुछ ऐसा, राजनीतिक सरगरमियां हो गई तेज

हनुमान बेनीवाल के लिए राजेन्द्र राठौड़ ने बोल दिया कुछ ऐसा, राजनीतिक सरगरमियां हो गई तेज

Dinesh Saini | Publish: Apr, 23 2019 03:09:28 PM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 03:11:27 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

सियासी जानकारों के मुताबिक बेनीवाल की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे से नहीं बनती है...

जयपुर।

प्रदेश में लोकसभा चुनावों ( lok sabha election 2019 ) को लेकर पार्टियों के नेताओं की बयानबाजी जोरों पर है। जहां पक्ष-विपक्ष एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं वहीं पार्टी के आलाकमान अपनी पार्टी के प्रत्याशी की जीत का ऐलान करते नजर आ रहे हैं। विधान सभा चुनावों में राजस्थान की राजनीति में उथल-पुथल मचाने वाले हनुमान बेनीवाल ( hanuman beniwal ) लोकसभा चुनावों में भी स्टार राजनेता बने हुए हैं। विधान सभा चुनावों में भाजपा से अलग होने के बाद लोकसभा में फिर से भाजपा के साथ जुडकऱ नागौर सीट से चुनाव लडऩे का ऐलान कर विपक्षी पार्टियों में हडक़ंप मचा चुके हैं। बेनीवाल की लोकप्रियता को देखते हुए भाजपा के पूर्व मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ ( Rajendra Singh Rathore ) ने हनुमान बेनीवाल के लिए बड़ी बात कहते हुए कहा कि हनुमान बेनीवाल 36 कौम के नेता हैं, उन्हें लेकर किसी प्रकार का कोई संशय नहीं है। हर जाति को साथ लेकर चलने वाले बेनीवाल बहुत अच्छे मतों से ऐतिहासिक जीत हासिल करेंगे। इस दौरान उनके साथ लोकसभा प्रभारी महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे।


प्रदेश के दक्षिण-पश्चिमी मारवाड़ इलाके के नागौर, बाड़मेर, जोधपुर, जालोर, पाली और सीकर जिलों में पार्टी का जनाधार माना जाता है। इस बेल्ट की कई सीटों पर जाट मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं। बेनीवाल के आने से बीजेपी को इस क्षेत्र की लोकसभा सीटों पर लाभ मिलेगा। इसके अलावा हरियाणा, वेस्ट यूपी और पंजाब में भी बेनीवाल के जरिए भाजपा जाट वोटों में सेंध लगा सकती है। नागौर से वर्तमान बीजेपी सांसद सीआर चौधरी का विरोध हो रहा था। ऐसे में बेनीवाल को इस सीट से उतारकर बीजेपी ने नया सियासी दांव खेल दिया।

आरएलपी प्रमुख हनुमान बेनीवाल खुद खींवसर सीट से विधायक हैं। जाट समुदाय से आने वाले बेनीवाल छात्र राजनीति से ही सियासत में सक्रिय हैं। वह लगातार खींवसर सीट से निर्दलीय कैंडिडेट के रूप में चुनाव जीतते रहे हैं। 2018 के विधानसभा चुनाव से पहले बेनीवाल ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) का गठन किया था। हालांकि सियासी जानकारों के मुताबिक बेनीवाल की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे से नहीं बनती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned