Rajsamand Murder- मृतक अफराजुल की पत्नी से ममता बनर्जी ने की फोन पर बात, किया ये ऐलान

राजसमंद में माहदाह के मजदूर की हत्या के बाद पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने उसके आश्रितों को तीन लाख और परिवार के सदस्य को नौकरी देने की है।

By: santosh

Updated: 09 Dec 2017, 09:58 AM IST

जयपुर। राजस्थान के राजसमंद में मालदह के एक मजदूर की निर्मम हत्या के बाद पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने उसके आश्रितों को तीन लाख और परिवार के सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है। ममता बनर्जी से घटना पर दुख प्रकट किया है। सीएम ने मंत्रियों और पार्टी के सांसदों को श्रमिक के परिवार से मिलने के लिए भेजा है। हत्या के विरोध में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस शुक्रवार शाम सडक़ पर उतर गई। इसके विरोध में तृणमूल युवा कांग्रेस ने मोमबत्ती जुलूस निकाला।

 

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी ने इसे निर्मम घटना करार देते हुए भाजपा पर निशाना साधा और इसे राजस्थान में कानून-व्यवस्था नहीं होने और अपराधियों के खुलेआम घूमने का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राजसमंद में मारे गए अफराजुल की पत्नी से फोन पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि मृतक की तीनों बेटियों कीपढ़ाई-लिखाई का खर्च सरकार वहन करेगी।

 

आम आदमी पार्टी ने भी राजस्थान सरकार को घेरा
जिंदा जलाकर मार देने की घटना की आम आदमी पार्टी ने कड़ी आलोचना की है। आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि राज्य की भाजपा सरकार की सबसे बड़ी असफलता है। उन्होंने कहा कि राज्य में किसी व्यक्ति को जिंदा जलाना राज्य की सरकार के इशारे पर ही समाज में फैलाई गई नफरत है।

 

संजय सिंह ने कहा कि इस घटना से जाहिर होता है कि भाजपा के लोग किसी के सगे नहीं हैं। ये लोग पहले पहलू खान को मारते हैं, फिर दलितों को मारते हैं, रोहित वेमुला को मारते हैं। ये अपने अंहकार में किसी को भी मार सकते हैं चाहे फिर वो बहुसंख्यक हो या अल्पसंख्यक। सिंह ने कहा कि भाजपा इस देश में नफरत का बीज बो रही है राजस्थान में हुई उस निर्मम हत्या की आम आदमी पार्टी कड़े शब्दों में निंदा करती है। सरकार की शह पर इस तरह के अपराध को अंजाम नहीं दिया जाता।

 

हत्या का आरोपी रिमांड पर
हत्या के आरोपित को शुक्रवार को अदाल ने तीन दिन के रिमांड पर भेज दिया। नाबालिग किशोर को बाल कल्याण समिति अध्यक्ष के समक्ष पेश किया, जहां से बाल सम्पे्रषण गृह भेज दिया गया। अब पुलिस द्वारा आरोपित द्वारा के वायरल वीडियो में लव जिहाद के बयानों के बारे में गहन पूछताछ की जाएगी कि आखिर उसके किसी संघ, संगठन या व्यक्ति का सहयोग है या नहीं। साथ ही कथित तौर जिस लड़की को जिहादियों द्वारा बंगाल ले जाने और बंगाल में कतिपय व्यक्ति द्वारा धमकाने की बात की भी सच्चाई की गहनता से जांच की जाएगी।

 

पुलिस के अनुसार मालदा, पश्चिम बंगाल निवासी अफराजुल उर्फ गुट्टू की 6 दिसम्बर को हत्या के मामले में गिरफ्तार रेगर मोहल्ला, राजनगर निवासी शंभूलाल रेगर और निरूद्व नाबालिग किशोर को कडी पुलिस सुरक्षा में राजसमंद लाया गया। आरोपित शंभूलाल को न्यायालय में पेश किया, जहां से पुलिस द्वारा पांच दिन का रिमांड मांगा गया, लेकिन न्यायाधीश ने गहन 3 दिन तक रिमांड पर रखने के आदेश दिए। इसी तरह हत्या का लाइव वीडियो बनाने पर निरुद्ध नाबालिग किशोर को पुलिस ने बाल कल्याण समिति अध्यक्ष भावना पालीवाल के समक्ष पेश किया, जहां से बाल सुधार गृह भेज दिया गया।

 

आरोपित को न्यायालय में पेश करने के दौरान चैतरफा न्यायालय परिसर में भारी पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया। राजसमंद पुलिस उप अधीक्षक राजेंद्रसिंह राव, कुंभलगढ़ पुलिस उप अधीक्षक चंदनसिंह महेचा, राजनगर सीआई रामसुमेर मीणा, केलवाड़ा सीआई योगेश चैहान, केलवा थाना प्रभारी भरत योगी के साथ भारी पुलिस जाब्ता तैनात रहा। आरोपित को आगे पीछे एस्कॉर्ट देते हुए न्यायालय में लाए और न्यायालय से भी वापस उसी स्थिति में थाने पर ले जाया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned