Ramniwas Bagh Parking Extension : जेडीए को स्मार्ट सिटी कंपनी ने दी हरी झंडी, 750 चौपहिया वाहनों की पार्किंग

प्रोजेक्ट फंड के लिए लिखित सहमति दी...जेडीए ने डीपीआर बनाने का काम किया तेज

जयपुर। रामनिवास बाग में दूसरी भूमिगत पार्किंग निर्माण को लेकर स्मार्ट सिटी कंपनी ने जेडीए को हरी झंडी दे दी है। इसमें प्रोजेक्ट के लिए फंड देने की सहमति दी गई है। इसके बाद जेडीसी टी. रविकांत ने परियोजना निदेशक को तत्काल डीपीआर से जुड़े काम को गति के निर्देश दिए हैं। अब जेडीए इसकी विस्तृत डीपीआर तैयार कर रहा है और स्मार्ट सिटी कंपनी निर्माण के लिए रोकड़ देगी। यादगार के सामने रामनिवास बाग के कॉर्नर से लेकर महिला चिकित्सालय तक यह पार्किंग बनानी प्रस्तावित की गई है। इसमें 750 चौपहिया वाहनों की पार्किंग होने का दावा किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक पिछली कांग्रेस सरकार में भी यहां पार्किंग की कवायद शुरू हुई थी। तब भी शांति धारीवाल ही नगरीय विकास मंत्री थे और उन्होंने मौका मुआयना भी किया था। जेडीए ने डीपीआर तैयार करने का काम भी शुरू किया लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद यह प्रस्ताव फाइलों में चला गया। इस दौरान अभियंताओं ने भी तत्कालीन यूडीएच मंत्री की हां में हां मिलाई, जिसमें उन्होंने इसकी जरूरत नहीं होने का हवाला दिया था। गौरतलब है कि यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने पिछले दिनों जेडीसी को भूमिगत पार्किंग की डीपीआर का काम जल्द शुरू करने के निर्देश दिए थे।

एलिवेटेड रोड पर भी फोकस

गोविंद मार्ग पर दिनभर शहर से बाहर जाने वाली बसों के संचालन के कारण यातायात जाम की समस्या रहती है। इस कारण इस समस्या से निपटने के लिए यहां एलीवेटेड रोड निर्माण के लिए भी कवायद शुरू हुई है। इसकी डीपीआर भी जेडीए तैयार करेगा। जेडीए अफसर और यूडीएच मंत्री का मानना है कि यहां एलिवेटेड रोड निर्माण ही प्रमुख विकल्प है। हालांकि, इसके लिए सड़क के दोनों और दुकानें-आवास टूटेंगे।इस मार्ग पर व्यापारियों का व्यापार चौपट होने की आशंका ज्यादा है। क्योंकि नारायण सिंह सर्किल से त्रिमूर्ति सर्किल तक वैसे ही रोड की चौड़ाई कम है। यहां अगर एलीवेटेड रोड का रैम्प बनता है तो रोड के दोनों ओर जगह बहुत कम रह जाएगी।

Bhavnesh Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned