राजस्थान में बलात्कार की जांच अब 117 दिन में हो रही पूरीः मुख्य सचिव निरंजन आर्य

राजस्थान के मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि प्रदेश में बलात्कार की जांच पूर्ण करने का औसत समय अब 117 दिन का हो गया है। यह राष्ट्रीय औसत से कही बेहतर है। जबकि पहले यह औसत समय 267 दिन का था।

By: Kamlesh Sharma

Published: 06 Jan 2021, 07:59 PM IST

नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि प्रदेश में बलात्कार की जांच पूर्ण करने का औसत समय अब 117 दिन का हो गया है। यह राष्ट्रीय औसत से कही बेहतर है। जबकि पहले यह औसत समय 267 दिन का था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अधिक संख्या में मुकदमें दर्ज होने का मतलब अपराध बढऩा नहीं है।

मुख्य सचिव आर्य व पुलिस महानिदेशक मोहनलाल लाठर ने बुधवार को महिला अत्याचार निवारण संसदीय समिति के समक्ष राज्य में किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। सांसद आनंद शर्मा की अध्यक्षता में गठित इस समिति ने सभी राज्यों से महिला अत्याचार कम करने के लिए किए जा रहे सुधारों की रिपोर्ट मांगी थी। मुख्य सचिव आर्य ने यह रिपोर्ट समिति को दी।

इसके बाद आर्य ने पत्रकारों को बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एफआइआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे, जाहिर सी बात है कि इससे दर्ज मुकदमों की संख्या बढ़ी है, लेकिन इसका मतलब अपराध बढऩा नहीं है। इस तरह की पहल करने वाला राजस्थान देश में अकेला राज्य है। इसकी जानकारी समिति को दी। आर्य ने बताया कि इस निर्देश के बाद राजस्थान में करीब 200 एफआइआर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के माध्यम से दर्ज हुई। इनमें से सिर्फ 18 एफआइआर ऐसी थी, जिनमें थाना प्रभारी स्तर पर लापरवाही हुई।

जबकि शेष मामलों में परिवादी थानों तक पहुंची ही नहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 5 हजार हैड कांस्टेबल के पद सृजित किए गए। साथ ही उन्हें जांच करने का अधिकार दिया गया। हमारी कोशिश है कि प्रदेश में चारों तरफ से ऐसा माहौल बनाया जाए कि महिलाओं में विश्वास पैदा हो। इसके अलावा 283 थानों में परिवादियों के लिए स्वागत कक्ष बनाने, अभय कमांड बनाने की पहल की समिति ने सराहना की। समिति ने हर थाने में महिला डेस्क बनाने और वहां किसी महिला पुलिसकर्मी की मौजूदगी सुनिश्चित करने पर जोर दिया।

पुलिस में 9-10 फीसदी महिलाएं
आर्य ने समिति को बताया कि राजस्थान में पुलिस भर्ती में महिलाओं के लिए 30 फीसदी आरक्षण किया। इसके चलते राजस्थान में अब 9 से 10 फीसदी महिला पुलिसकर्मी है।

निर्भया फंड पर पूछे सवाल
समिति ने निर्भया फंड का उपयोग नहीं पर भी सवाल किए गए। इस पर आर्य ने कहा कि राजस्थान में इस फंड को लेकर हो रहे कार्य व लंबित बजट की जानकारी समिति को दे दी है।

Kamlesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned