चीनी में ई-कॉमर्स और ऑनलाइन पढ़ाई का तेज विकास

बीजिंग। चीनी अर्थतंत्र ( Chinese economy ) का अपेक्षाकृत तेज विकास ( developing relatively fast ) हो रहा है। पहली तिमाही में चीन की सूचना ट्रांसफर ( China's information transfer ), सॉफ्टवेयर ( software ) और सूचना तकनीक सेवा ( information technology ) उद्योग की वृद्धि दर 13.3 थी और जीडीपी की वृद्धि में 0.6 प्रतिशत का अनुपात है। इंटरनेट से संबंधित आर्थिक गतिविधियों ( economic activities ) में ओतप्रोत होने से ई-कॉमर्स और ऑनलाइन पढ़ाई आदि का अपेक्षाकृत तेज विकास हुआ है। यह स्पष्ट है कि चीनी अर्थव्यव

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 18 Apr 2020, 12:43 PM IST

चीन सुधार और खुलेपन को निरंतर गहरा करेगा और अर्थतंत्र की निहित शक्ति को प्रेरित करता रहेगा। चीनी बाजार के प्रति विश्व के विश्वास में भी कोई परिवर्तन नहीं आया है। वुहान के पुन:खुलने के पहले दिन वॉलमार्ट कंपनी ने एलान किया कि वुहान चीन में वॉलमार्ट के अहम सामरिक बाजारों में से एक है और वह वुहान में और 3 अरब चीनी युआन का निवेश करेगा।
हाल में अंतरराष्ट्रीय समुदाय में महामारी का फैलाव हो रहा है। विश्व आर्थिक विकास में अस्थिरता और अनिश्चितता भी बढ़ रही है। चीन को लम्बे अरसे से बाहरी जोखिम का निपटारा करने की तैयारी करनी चाहिए। लेकिन चीन को अपना अर्थतंत्र बहाल करना और विश्व अर्थतंत्र की स्थिरता के लिए सक्रिय योगदान देना चाहता है।
पहली तिमाही में जीडीपी 6.8 प्रतिशत कम
चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के प्रवक्ता माओ शेंग योंग ने 17 अप्रेल को पेइचिंग में कहा कि प्रारंभिक गणना के अनुसार, पहली तिमाही में चीन की जीडीपी 206 खरब 50 अरब 40 करोड़ युआन रही, तुलनीय कीमतों पर गणना के अनुसार 6.8 प्रतिशत कमी हो रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की कड़ी चुनौतियों का सामना करते हुए चीन के आर्थिक और सामाजिक विकास की स्थिति स्थिर रही। मार्च में प्रमुख आर्थिक संकेतकों में गिरावट काफी कम हो गई।
आंकड़ों के अनुसार पहली तिमाही में, देश में शहरों और कस्बों में 22 लाख 90 हजार लोगों को नए रोजगार मिला था। शहरी सर्वेक्षण में बेरोजगारी की दर में गिरावट आई। लेकिन रोजगार की कुल स्थिति आम तौर पर स्थिर है। माओ शेंग योंग ने कहा कि वर्तमान में दुनिया में महामारी फैल रही है, विश्व में आर्थिक नकारात्मक जोखिम तेज हो गए हैं। चीन में उत्पादन बहाल करने, आर्थिक और सामाजिक विकास के सामने नई चुनौतियां मौजूद हैं। अगले चरण में महामारी की रोकथाम और नियंत्रण और आर्थिक और सामाजिक विकास को बढ़ावा देने के काम को आगे बढ़ाया जाएगा, उत्पादन बहाल करने की नीति अपनाते हुए जन जीवन का सुधार किया जाएगा, ताकि पूरी तरह से खुशहाल समाज का निर्माण करने, गरीबी उन्मूलन करने का लक्ष्य किया जा सके।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned