लॉकडाउन में शिकारियों के निशाने पर दुर्लभ वन्यजीव, विभाग अलर्ट

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की एडवाइजरी मिलने के बाद तीनों टाइगर रिजर्व के सीसीएफ को भी किया सतर्क जयपुर . दुर्लभ वन्यजीवों पर खतरा मंडरा रहा है। लॉकडाउन के शांत माहौल का फायदा उठाते हुए शिकारी गैंग शिकार के लिए घात लगाई बैठी है। इस संबंध में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से मिली खुफिया जानकारी के बाद वन विभाग हरकत में आ गया है। सूत्रों के मुताबिक मंत्रालय को मिली खुफिया जानकारी के तहत देशभर के अलग-अलग हिस्सों में शिकारी गैंग दुर्लभ जीवों का शिकार करने की तैयारियों में जुटी हुई है। इस

By: Sudhir Bile Bhatnagar

Published: 10 May 2020, 04:55 PM IST

वन अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के आईजी फॉरेस्ट सौमित्र दास गुप्ता का पत्र मिलने के बाद राजस्थान के मुख्य वन्यजीव प्रति पालक अरिंदम तोमर ने राज्यभर में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। खासतौर पर प्रदेश के तीनों टाइगर रिजर्व के सीसीएफ को सतर्क रहते हुए सूचना एकत्र करने के आदेश दिए हैं। उन्हें अपने इलाकों में शिकारियों के ऊपर विशेष निगाह रखने और दुर्लभ जीवों का शिकार ना हो जाए, इसके लिए मॉनिटरिंग करने को कहा गया है। इसमें वह पुलिस, आर्मी, खुफिया एजेंसी आदि की भी मदद ले सकते हैं।
शिकारियों के रडार पर यह वन्यजीव
टाइगर, रीछ, पैंथर, पेंगोलिन, नेवले, चिंकारा हिरण, चौसिंघा, काला हिरण, मोर, डेसर्ट मोनिटर लिजर्ड, स्पिनी टेल्ड लिजर्ड, गोडावण, हबूरा गोडावण, लेसर फ्लोरिकन और कछुए की तीन प्रजातियां भी इसमें शामिल हैं। शिकारी इन वन्यजीवों का शिकार कर तस्करी करते हैं। वन विभाग ने सर्कूलर में इनकी सूची भी जारी की है।

Sudhir Bile Bhatnagar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned