कॉलेज में इन सीटों के लिए फिर से होगी काउंसलिंग

MOHIT SHARMA

Updated: 11 Oct 2019, 12:22:51 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। प्रदेशभर के सरकारी कॉलेजों के विद्यार्थियों को रोजगारोन्मुखी शिक्षा देने के लिए राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की ओर से कॉलेजों में पाठयक्रम शुरू किए गए। इन पाठयक्रमों में प्रदेश के कई कॉलेजों के विद्यार्थियों ने प्रवेश में रुचि ही नहीं दिखाई। ऐसे में अब इन सरकारी कॉलेजों में फिर से विद्यार्थियों को प्रवेश दिलाने के लिए परामर्श कैंप लगाए जाएंगे। प्रवेश के लिए कैंप अभी सिर्फ 15 कॉलेजों में ही लगाए जाएंगे। विद्यार्थियों के रुझान को देखते हुए इसकी संख्या में बढ़ोतरी की जा सकती है।
गौरतलब है कि प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की ओर से नि:शुल्क कौशल प्रशिक्षण के पाठयक्रम शुरू किए गए हैं, लेकिन कॉलेज शिक्षा विभाग ने इस योजना का प्रचार प्रसार नहीं किया, जिसकी वजह से इनमें सीटें खाली रह गई।

कॉलेज आयुक्त प्रदीप कुमार बोरड़ ने बताया कि नि:शुल्क कौशल प्रशिक्षण पाठयक्रमों में प्रवेश के संबंध में विद्यार्थियों को प्रेरित कर प्रवेश कराना था, लेकिन इन पाठयक्रमों में नामांकन की स्थिति काफी कम रही। अब राज्य स्तर पर 15 कॉलेजों का चयन हुआ है। इस संबंध में दोनों विभागों के शासन सचिव की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि इन कॉलेजों में प्रशिक्षण पाठयक्रमों में नामांकन बढ़ाने के लिए री काउंसलिंग कैंप लगाए जाएंगे। 17 अक्टूबर तक इन कॉलेजों में कैंप लगाकर जानकारी कॉलेज शिक्षा विभाग को देनी है।

इन सरकारी कॉलेजों में लगेंगे कैंप
राजकीय कन्या महाविद्यालय अजमेर, वाणिज्य महाविद्यालय अलवर, किशनगढ़ महाविद्यालय, सरदारशहर, राजकीय महाविद्यालय जयपुर, बाबा भगवानदास राजकीय महाविद्यालय चिमनपुरा, बाबा नारायणदास राजकीय महाविद्यालय चिमनपुरा, राजकीय महाविद्यालय राजसमंद, वाणिज्य महाविद्यालय कोटा, भीलवाड़ा, बारां, छबड़ा, नीमकाथाना और खींवसर महाविद्यालय में रीकाउंसलिंग कैंप लगाए जाएंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned