मरुधरा में महापलायन: सीमा के आर-पार, 12 लाख 12 हजार

13 हजार बसें और 158 ट्रेनें अब तक बन चुकी पलायन का जरिया

By: Sunil Sisodia

Updated: 29 May 2020, 02:11 PM IST

जयपुर.

कोरोना संकट के दौरान संक्रमण के भय, बेरोजगारी और अपनों से मिलने की चाहत ने राजस्थान की सीमाओं को पलायन का समन्दर बना दिया है। बीते करीब एक माह में 12 लाख 12 हजार प्रवासी और मजदूर प्रदेश की सीमा के आर-पार हो चुके हैं। ये वो लोग हैं, जो सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज हो गए। लेकिन एक बड़ी संख्या ऐसे प्रवासियों की भी है, जो बिना सरकार की सहायता अपने कदमों के बल राज्यों की ये सरहदें लांघ गए। श्रमिकों और प्रवासियों के अंतरराज्यीय पलायन के प्रबंधन के लिए सरकार ने वरिष्ठ आईएएस डॉॅ.सुबोध अग्रवाल की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समिति बनाई है, जिसकी रिपोर्ट की मुख्यमंत्री के स्तर पर समीक्षा की जा रही है। जानकारी के अनुसार अब तक करीब 9.99 लाख प्रवासी सड़क मार्ग से प्रदेश की सीमा में आए या बाहर गए। ऐसे ही ट्रेनों के जरिए भी करीब 2.13 लाख लोेगों का आवागमन प्रदेश से हुआ है। इस पलायन में आवागमन के सरकारी संसाधनों की बात करें तो 13 हजार से अधिक बसों के फेरे लगे और 158 ट्रेनें राज्य में आई और यहां से गईं।

पलायन का गणित
साधन...कितने आए...कितने गए
बस....7.50 लाख....2.49 लाख
ट्रेन....1.55 लाख.... 0.58 लाख

1490 राजस्थानी विदेश से आए

वंदे भारत मिशन के तहत अब तक 1490 राजस्थानी विदेशों से अपने देश लौट चुके हैं। इनमें जयपुर में अब तक आई 6 फ्लाइट्स में 1056 लोग पहुंचे हैं। जयपुर में पहली फ्लाइट 22 मई को आई थी।


कहां कितने गए—आए

राज्य... गए... आए
आन्ध्र प्रदेश ... 374....11444
असम और पूर्वोत्तर... 1062....725
बिहार...35584.....1035
चंडीगढ़....173....230
छत्तीसगढ़....582....813
दिल्ली....5665....13641
दमन और दीव....11....498
गोवा....48....2748
गुजरात....19307.....310090
हरियाणा....13399....19804
हिमाचल प्रदेश....1197....1137
जम्मू कश्मीर....988.....831
झारखंड.....6297....391
कर्नाटक....520....30473
केरल....223.....2209
मध्यप्रदेश....56332....37223
महाराष्ट्र.....2641....229315
उड़ीसा....590....521
पंजाब.....9861....3501
तमिलनाडु....463....42905
तेलंगाना....799.....16194
उत्तरप्रदेश....74336....18997
उत्तराखंड....6919.....3130
प.बंगाल....12080....2040
अंडमान—निकोबार...0.....3
दादर—नगर हवेली.... 39....538

सिरोही बॉर्डर से सर्वाधिक आए

संकट के इस समय में गुजरात सीमा से सर्वाधिक प्रवासी राजस्थानी प्रदेश में आए हैं। इनमें अकेले सिरोही बॉर्डर से 3.03 लाख प्रवासियों ने प्रदेश में प्रवेश किया, जबकि 1.38 प्रवासी गुजरात गए।

अब बमुश्किल ही कोई प्रवासी या श्रमिक सड़कों पर हैं। मुख्यमंत्री के निर्देशों पर हम लगातार हालात की समीक्षा कर रहे हैं। - डॉ.सुबोध अग्रवाल, अन्तरराज्यीय पलायन की प्रबंधन समिति के चेयरमैन

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned