REET Controversy -शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, अब भाजपा के गले की हड्डी बनेगा बत्तीलाल

REET Controversy -शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, अब भाजपा के गले की हड्डी बनेगा बत्तीलाल

By: Rakhi Hajela

Updated: 11 Oct 2021, 09:31 PM IST


बंद हो जाएगी भाजपा की नौटंकी
रीट परीक्षा में सीबीआई जांच की मांग को लेकर बोले शिक्षामंत्री
भाजपा ने किया सीबीआई का दुरुपयोग
जयपुर।
रीट पेपर लीक प्रकरण को लेकर बयानबाजी का दौर जारी है। अब शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने इस प्रकरण को लेकर भाजपा पर हमला बोला है। डोटासरा ने कहा कि भाजपा का चहेता बत्तीलाल अब उनके ही गले की हड्डी बनेगा। अब वो कानून की गिरफ्त में आ गया है, अब सारे राज सामने आ जाएंगे। जो भी इस प्रकरण के पीछे हैं उन सब के खिलाफ जांच होगी, चाहे इसके पीछे एक हो या एक हजार सभी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। अब यह किस बिल में घुसेंगे यह पता नहीं चलेगा। इनकी डिमांड थी बत्तीलाल। अब बत्तीलाल आ गया। दूध का पानी का पानी हो जाएगा और भाजपा की नौटंकी भी बंद हो जाएगी। जिसने गड़बड़ी की उसे एसओजी नहीं छोड़ेगी। कहीं यह तीर उन पर ही ना चल जाए जो दस पंद्रह दिन से नौटंकी कर रहे हैं।
एचसीएप रीपा में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद और समसा की ओर से आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि परीक्षा अच्छी हो गई इसका माइलेज कांग्रेस सरकार को नहीं मिले इसलिए भाजपा हल्ला कर रही है इनमें दम नहीं है कि सारे विधायक खड़े होकर यह कह दें कि परीक्षा निरस्त होनी चाहिए और युवाओं को नौकरी नहीं मिलनी चाहिए।
उन्होंने यह भी कहा कि परीक्षा को लेकर जब सरकार की वाह वाही हुई तो सोते रहे और जब जगे जो ऐसे जगे कि पता ही नहीं किस दिशा में चलना है। इतनी गिरावट भी नहीं आनी चाहिए। अगर कोई दोषी है प्रमाण है तो निश्चित रूप से सजा मिलनी चाहिए लेकिन यहां तो ना लठ्ठ ना कपास और थड़ाथड़ वाली बात हो रही है। अपने दायित्व का सही निर्वहन नहीं कर आने वाली पीढ़ी का नुकसान कर रही है भाजपा। उनका कहना था कि हरियाणा में भाजपा सरकार का शासन है सात साल से भर्ती नहीं कर पा रहे हैं पहले भर्ती की थी वो जेल में बैठे थे अब जाकर जमानत हुई है। कांग्रेस के शासन में ऐसा नहीं होता।
सीबीआई का दुरुपयोग कर रही भाजपा
सीबीआई से रीट प्रकरण की जांच करवाए जाने की भाजपा की मांग को लेकर उनका कहना था कि ढाई साल में भाजपा ने कुछ किया नहीं है, मुंगेरी लाल के हसीन सपने देख रहे हैं। उन्हें राज्य की पुलिस या एजेंसी पर विश्वास नहीं। 2017 में जब रीट हुई तब भाजपा की सरकार थी तभी सीबीआई कुछ कर देती तो नकल और पेपर आउट का झंझट ही समाप्तह हो जाता। यह इनकी राजनैतिक भाषा है सीबीआई का किस प्रकार से दुरुपयोग किया जा रहा है हमने देखा है। आंनदपाल के प्रकरण में सीबीआई जांच करवाई थी क्या हुआ? अब कह रहे हैं हमारी सबसे बड़ी गलती थी। उन्होंने कहा कि सब कुछ सीबीआई ही करेगी तो राज्य क्या करेगा, जब लगेगा कि इसके तार राज्य के बाहर से भी जुड़े हैं तो मुख्यमंत्री उचित निर्णय ले लेंगे। यह भाजपा का प्रस्ताव नहीं था यह मेरा प्रस्ताव था कि रीट में गलत काम करता पाया जाए उसकी मान्यता हमेशा के लिए समाप्त की जाए। अधिकारी मोबाइल लेकर नहीं जाएं।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned