REET Update : बत्तीलाल की गिरफ्तारी के बाद सबसे बड़ा सवाल.... क्या रद्द होगी रीट ? यहां मिल जाएगा आपको जवाब....

इस पूरे घटनाक्रम पर प्रदेश के उन लाखों अभ्यर्थियों की नजर है जिन्होनें रीट की परीक्षा दी है और अब रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 11 Oct 2021, 01:14 PM IST


जयपुर
भगवान केदारनाथ की शरण में जाकर भी बत्तीलाल बच नहीं सका, वहां से भी उसे और उसके साथी शिवा कोSOG ने दबोच लिया और अब दोपहर तक उसे जयपुर लाने की तैयारी है। जयपुर लाने के बाद कोर्ट पेशी के तुरंत बाद एसओजी के पास एक ही सबसे बड़ा सवाल हैBattilal के लिए, इसी सवाल का जवाब तय करेगा कि बत्तीलाल मास्टरमाइंड है या फिर एक कड़ी...? उधर इस पूरे घटनाक्रम पर प्रदेश के उन लाखों अभ्यर्थियों की नजर है जिन्होनें रीट की परीक्षा दी है और अब रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं।

पांच से सात दिन का रिमांड मांगेगी एसओजी, पूछताछ के लिए सवाल तैयार
एसओजी के अफसरों ने बताया कि बत्तीलाल और शिवा के जयपुर आने के साथ ही उनकी रिमांड की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। Remand पर लेने के लिए जो कागजी कार्रवाई की जानी है वह लगभग पूरी कर ली गई है। तैयारी यही है कि उसे सीधे ही कोर्ट ले जाया जाया Medical प्रोसिजर को फाॅलो कराने के बाद। कोर्ट मंे एसओजी ने पांच से सात दिन की रिमांड लेने की मांग करेगी और उसके बाद यह कोर्ट पर निर्भर है कि रिमांड कितने दिन की दी जाती है। एसओजी ने पूछताछ के लिए जो सवाल तय किए हैं उनमें सबसे बड़ा सवाल यही है कि पेपर कहां से लिया गया और कितने लोगों को दिया गया।

उत्तराखंड से भी भागने की तैयारी में था बत्तीलाल
एसओजी अफसरों ने बताया कि उसकी तलाश में राजस्थान और एमपी में छापेमारी के बाद सूचना मिली थी तीन दिन पहले की वह उत्तराखंड में है। वहां जाने पर पूछताछ की तो पता चला कि केदारनाथ धाम के आसपास उसे देखा गया है। वहां पर फिल्मी अंदाज मे ंउसे दबोचा लिया गया। पता चला कि वह रविवार को ही उत्तराखंड से जाने की तैयारी कर रहा था। लेकिन इससे पहले ही उसे दबोच लिया गया।

किसी नेता का नाम आता है तो किस तरह से कार्रवाई करेगी एसओजी
इस पूरे घटनाक्रम के बाद अब एसओजी के सामने बड़ी समस्या ये है कि इस पूरे घटनाक्रम में बत्तीलाल की बहुत से नेताओं के साथ फोटोज थे, क्या उनमें से किसी का नाम इस केस में आता है। अगर किसी का नाम इस केस से जुड़ता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई क्या होगी। एसओजी अफसरोे ने बताया कि अगर सीधे तौर पर किसी नेता या बड़े अफसर का दखल होता है तो इस बारे में सरकार की राय लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अब सीबीआई कार्रवाई की मांग का क्या होगा, क्या उस पर होगा अमल
बत्तीलाल की गिरफ्तारी से पहले ही कई छात्र संगठन और एमपी किरोडीलाल मीणा इस परीक्षा पर सवाल उठा चुके हैं, उनका कहना है कि परीक्षा की जांच सीबीआई से कराई जाए। हांलाकि कई दिनों से लगातार की जा रही इस मांग के बाद भी सरकार के किसी प्रतिनिधी या किसी पुलिस अफसर ने इसका जवाब नहीं दिया है। अब बत्तीलाल की गिरफ्तारी के बाद सीबीआई जांच की मांग खटाई में पडती दिख रही है।

अभ्यर्थियों का कहना, परीक्षा फिर से होती है सरकार से भरोसा उठ जाएगा
बत्तीलाल की गिरफ्तारी के बाद अब अभ्यर्थियों के मन में सवाल पैदा हो रहे हैं। अभ्यर्थी एक दूसरे को फोन कर परीक्षा के भविष्य के बारे में चर्चा कर रहे हैं। जयपुर निवासी अनिता शर्मा जिन्होनें दौसा जाकर पेपर दिया उनका कहना है कि मन में डर है, अगर परीक्षा खटाई मे जाती है तो ओवरऐज हो जाएंगे अगली परीक्षा के लिए। वहीं जयपुर निवासी जय, जिन्होनें अलवर जाकर पेपर दिया, का कहना था कि अगर यह परीक्षा रद्द होती है तो लाखों बेरोजगारों का सरकार पर से भरोसा उठ जाएगा।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned