रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा :विभिन्न वर्गों में 5 से 10 फीसदी न्यूनतम अंकों में दी गई रियायत

रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा : शिक्षा विभाग ने प्रदेश के लाखों बेरोजगारों को दी बड़ी राहत
विभाग ने न्यूनतम पासिंग अंकों में रियायत देने का आदेश
विभिन्न वर्गों में 5 से 10 फीसदी न्यूनतम अंकों में दी गई रियायत

By: Rakhi Hajela

Published: 16 Dec 2020, 07:44 PM IST


प्रदेश में 31 हजार पदों पर तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती का इंतजार कर रहे बेरोजगारों के लिए अब कभी भी खुशखबरी आ सकती है।शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट किया है कि रीट परीक्षा को लेकर सरकार आचार संहिता हटते ही प्राथमिकता से काम कर रही है। इसी के चलते आज विभिन्न श्रेणियों हेतु न्यूनतम अर्हक अंकों में रियायत देने और इस परीक्षा के लिए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को नोडल एजेंसी बनाने संबंधी आदेश जारी किया गया है। उन्होंने आगे लिखा कि अब बहुत जल्द रीट परीक्षा की तारीख का ऐलान किया जाएगा। गौरतलब है कि निर्वाचन आयोग ने 11 दिसंबर को चुनाव तक रीट की प्रक्रिया पर रोक लगाई थी। अब चुनाव खत्म हो चुके हैं। ऐसे में कभी भी रीट की प्रक्रिया शुरू हो गई है। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड भी सरकार के निर्देशों का इंतजार कर रहा है।
विभिन्न श्रेणियों हेतु न्यूनतम अर्हक अंकों में रियायत
: सामान्य.अनारक्षित नॉन टीएसपी 60 फीसदी
: टीएसपी 60 फीसदी, अनुसूचित जनजाति नॉन टीएसपी 55 फीसदी
: टीएसपी 36 फीसदी, एससी, ओबीसी, एमबीसी और ईडब्ल्यूएस को 55 फीसदी रियायत दी गई है।
: समस्त श्रेणी की विधवा एवं परित्यक्ता महिलाओं, भूतपूर्व सैनिक 50 फीसदी
: दिव्यांग श्रेणी में नियमानुसार आने वाले समस्त व्यक्ति को 40 फीसदी
: सहरिया जनजाति के व्यक्ति 36 को फीसदी रियायत दिए जाने का निर्णय लिया गया है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned