राजनीतिक दलों का पंजीकरण अब ट्रेकिंग प्रबंधन प्रणाली से

भारत निर्वाचन आयोग ने की नई व्यवस्था
दलों के पंजीकरण 1 जनवरी से नई व्यवस्था से ही

By: Sunil Sisodia

Published: 03 Jan 2020, 11:23 AM IST

जयपुर।

राजनीतिक दलों के पंजीकरण को लेकर भारत निर्वाचन आयोग ने नई व्यवस्था लागू की है। अब राजनीतिक दलों के पंजीकरण ट्रैकिंग प्रबंधन प्रणाली (पीपीआरटीएमएस) से होंगे। इससे आवेदक उनके आवेदन पत्र पर आयोग में होने वाली ताजा स्थिति से लगातार अवगत रहेंगे।

इस नई प्रणाली पीपीआरटीएमएस की मुख्य विशेषता यह है कि 1 जनवरी 2020 से राजनीतिक दल के पंजीकरण के लिए आवेदन करने वाला आवेदक अपने आवेदन पत्र की दिशा में हुई प्रगति पर करीबी नजर रखने के साथ ही उसे एसएमएस एवं ई-मेल के जरिए ताजा या अद्यतन जानकारी मिलती रहेगी। यह बदलाव निर्वाचन आयोग ने दिसंबर 2019 में किया था। लेकिन नए नियम 1 जनवरी-2020 से प्रभावी किए गए हैं। यह जानकारी कोई भी व्यक्ति भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर देख सकता है।

उल्लेखनीय है कि राजनीतिक दलों का पंजीरकण जन प्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 की धारा 29-ए के प्रावधानों के तहत होता है। इसके तहत पंजीकरण कराने के इच्छुक किसी भी संगठन को अपने गठन की तिथि से लेकर 30 दिनों की अवधि के अंदर आयोग में आवेदन पत्र जमा करना होता है।

उस पर कार्रवाई निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के तहत की जाती है और आयोग की ओर से दिशा निर्देश भारतीय संविधान के अनुच्छेद 324 और जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 29-ए के तहत मिले अधिकारों के तहत तैयार किए गए हैं।

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned