किसानों को राहत : खरीफ और रबी सहकारी फसली ऋण चुकाने की अवधि 31 अगस्त तक बढ़ाई


केंद्रीय सहकारी बैंकों की ओर से दिए जाते हैं ऋण
सहकारिता विभाग ने जारी किए निर्देश

By: Rakhi Hajela

Published: 30 Jun 2020, 07:34 PM IST

केंद्रीय सहकारी बैंकों की ओर से मिलने वाले कर्ज को अब किसान ३१ अगस्त तक चुका सकेंगे। सहकारिता विभाग से इसकी अवधि ३० जून से बढ़ाकर ३१ अगस्त कर दी है। सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने मंगलवार को बताया कि कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश के किसानों को राहत देते हुए खरीफ.2019 और रबी2019-2020 के सहकारी अल्पकालीन फसली ऋणों की चुकारा अवधि को 30 जून से बढ़ा कर 31 अगस्त तक किया गया है।

आंजना ने बताया कि राज्य में केन्द्रीय सहकारी बैंकों की ओर से ग्राम सेवा सहकारी समितियों के सदस्य काश्तकारों को अल्पकालीन फसली सहकारी ऋण वितरित किए जाते हैं। खरीफ 2019 में लिए गए फसली सहकारी ऋण 31 मार्च चुकाने होते हैं, जिसे बढ़ा कर पूर्व में 30 जून तक किया था। अब इसे एक बार फिर बढ़ाकर १ अगस्त कर दिया गया है। कोरोना वायरस की महामारी के चलते किसानों को ऋण जमा कराने में हो रही परेशानी से किसानों के हित में निर्णय लिया गया है।
उन्होंने बताया कि इससे राज्य में केन्द्रीय सहकारी बैंकों के माध्यम से वर्ष 2019 में खरीफ फसल एवं वर्ष 2019-20 में रबी के लिए ऋण लेने वाले लाखों किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज सुविधा का लाभ मिल सकेगा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned