Operation Free Sky : पतंग की डोर से परिंदों को बचाया

पतंग की डोर से परिंदों को बचाया

ऑपरेशन फ्री स्काई चलाया

पतंग की डोर से परिंदों को बचाया

परिंदों को बचाने के लिए बनाए 16 रेक्स्यू सेंटर

प्रदेश में पशु कल्याण के लिए कार्यरत वल्र्ड संगठन की ओर से मकर संक्रांति के अवसर पर पतंगों की डोर से घायल परिंदों को बचाने के लिए ऑपरेशन फ्री स्काई आयोजित किया गया। जिसके तहत वल्र्ड संगठन, एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया, जयपुर जिला पशु क्रूरता निवारण समिति और पशु पालन विभाग की ओर से शहर में १६ रेस्क्यू सेंटर बनाए गए जिसमें १८ पशु चिकित्सकों और २५ स्वयंसेवकों ने अपनी सेवाएं दीं। इस दौरान तकरीबन ८५ घायल परिंदों की जान बचाई गई। राजस्थान स्टेट एनिमल वेलफेयर ऑफिसर मनीष सक्सेना ने बताया कि सबसे अधिक घायल परिंदे जगतपुरा,
दुर्गापुरा, पॉली क्लिनिक पांच बत्ती, जवाहर नगर, नाहरी का नाका,झोटवाड़ा, मानसरोवर, और बस्सी से प्राप्त हुए।

सबसे अधिक घायल कबूतर और कमेड़ी

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक और जिला पशु क्रूरता निवारण समिति के सदस्य डॉक्टर उम्मेदसिंह ने कहा कि वल्र्ड संगठन, एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ चइंडिया, जयपुर जिला पशु क्रूरता निवारण समिति तथा पशु पालन विभाग ने संयुक्त प्रयास कर परिंदों को बचाने के लिए यह अभियान छेड़ा है जो अपने आप में अनूठा है। उन्होंने बताया कि घायल परिंदों में सबसे अधिक कमेडी और कबूतर उपचार के लिए लाए गए। 'वल्र्डÓ संगठन की उपनिदेशक नम्रता ने बताया कि अभियान में सरकारी निकायों के साथ आमजन ने भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

चलाई गई मोबाइल वैन

पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि घायल पक्षियो के मौके पर उपचार के लिए 'जिला चलपशु चिकित्सा इकाई की ओर से मोबाइल वैन भी चलाई गई जिसके द्वारा डॉ.प्रदीप सोठवाल और डॉ. करण गुर्जर ने घायल परिंदों को घटनास्थल पर ही तत्काल चिकित्सा उपलब्ध करवाई।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned