आरएलपी लड़ेगी सभी नगर निकाय और तीन सीटों के उप चुनाव

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में होने वाले आगामी सभी नगर निकाय चुनावों के साथ-साथ राजस्थान विधानसभा की तीन सीटों पर होने वाले उप चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने शनिवार को जयपुर में इसकी घोषणा की।

By: Umesh Sharma

Published: 09 Jan 2021, 07:36 PM IST

जयपुर।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में होने वाले आगामी सभी नगर निकाय चुनावों के साथ-साथ राजस्थान विधानसभा की तीन सीटों पर होने वाले उप चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने शनिवार को जयपुर में इसकी घोषणा की।

बेनीवाल ने कहा की शहरी क्षेत्रों में भी पिछड़ी हुई बस्तियों के विकास, शहरी क्षेत्रों को भ्रष्टाचार से मुक्त करने तथा विकास के मुद्दों को लेकर आरएलपी पार्टी नगर निकायों के चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कांग्रेस के पूर्व के कार्यकाल में एकल पट्टा प्रकरण सहित मृत व्यक्ति को पट जारी कर देने जैसे मामलो की तरफ भी बोलते हुए कहा की 22 वर्षों से राजस्थान में वसुंधरा-गहलोत के आपसी गठजोड़ से राजस्थान में भ्रष्टाचार संस्थागत रूप से बढ़ा है।

बेनीवाल ने राजे पर आरोप लगाया कि जिस तरह उन्होंने संगठन की समानान्तर सूची निकाली है, जिससे जाहिर हो रहा है कि राजे ने प्रत्यक्ष रूप से सीधा प्रधानमंत्री को चैलेंज किया है। बेनीवाल ने कहा की शाहजहांपुर बॉर्डर पर आरएलपी पार्टी का किसान आंदोलन के समर्थन में पड़ाव जारी है और यह लगातार जारी रहेगा तथा आरएलपी पार्टी किसानों के इस आंदोलन में उनके साथ खड़ी है। आरएलपी के प्रदेश अध्यक्ष व भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग और खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल भी मौजूद रहे।

बेरोजगारी भत्ते पर सरकार को घेरा

बेनीवाल ने किसान कर्ज माफी तथा बेरोजगारी भत्ते के मुद्दे को लेकर गहलोत सरकार पर भी आरोप लगाए। सांसद ने कहा की राजस्थान में अपराध चरम पर है और महिला अपराधों में भी राजस्थान को शर्मसार होना पड़ा एवं जनहित के मुद्दों पर भी राज्य सरकार विफल नजर आई। बेनीवाल ने कहा की बढ़ते अपराध और बिगड़ी कानून व्यवस्था पर भी सरकार पर हमला बोला।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned