Hanuman Beniwal के निशाने पर Ashok Gehlot और Vasundhara Raje, चुनावी रैलियों में कर रहे ‘अटैक’

सांसद बेनीवाल आरएलपी के पक्ष में चुनावी माहौल बनाने के लिए तूफानी दौरे कर रहे हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहां चुनाव प्रचार में जुटे अन्य सांसद एक दिन में तीन से चार चुनावी जनसभाएं कर रहे हैं वहीं सांसद दर्जन भर सभाएं एक ही दिन में निपटा रहे हैं।

 

By: nakul

Published: 21 Nov 2020, 02:13 PM IST

जयपुर।

पंचायत चुनाव में कांग्रेस-भाजपा को कई जगहों पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की कड़ी टक्कर मिल रही है। तीनों राजनीतिक पार्टियों के मजबूत प्रत्याशी होने से मुकाबला त्रिकोणीय बनने के साथ ही दिलचस्प हो चला है। वहीं तीन विधायक भेजने वाली आरएलपी की चुनाव कमान एक बार फिर से खुद सांसद हनुमान बेनीवाल ने संभाली हुई है। वे पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक भी हैं।

सांसद बेनीवाल आरएलपी के पक्ष में चुनावी माहौल बनाने के लिए तूफानी दौरे कर रहे हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहां चुनाव प्रचार में जुटे अन्य सांसद एक दिन में तीन से चार चुनावी जनसभाएं कर रहे हैं वहीं सांसद दर्जन भर सभाएं एक ही दिन में निपटा रहे हैं। जनसभाओं में बेनीवाल कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों को निशाने पर ले रहे हैं।

फिर निशाने पर हैं गहलोत-राजे
चुनावी सभाओं में एक बार फिर बेनीवाल के ‘टार्गेट’ पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे बने हुए हैं। वे इन दोनों नेताओं के नाम लेकर सीधा उनपर ज़बानी हमला साध रहे हैं। शुक्रवार को बाड़मेर दौरे के दौरान भी उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए गहलोत-राजे को निशाने पर लिया।

इस दौरान मीडिया से बातचीत में बेनीवाल ने कहा कि गहलोत की जादूगरी तो मैंने ही खत्म की है और मैं ही अब उन्हें व कांग्रेस को वेंटिलेटर पर भेजूंगा। वहीं पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के बारे में नागौर सांसद ने कहा कि उन्हें तो मैंने पहले भेज दिया था।

‘सरकार गिराने के लिए फिर दूंगा बीजेपी का साथ’
बेनीवाल ने गहलोत-राजे पर तीखे तेवर दिखाते हुए कहा कि राजस्थान में दोनों का गठबंधन है, इसीलिए सरकार चल रही है। लेकिन अब राजस्थान में तीसरी पार्टी आरएलपी ने इन दोनों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सांसद ने कहा कि पहले भी मैंने बीजेपी का सरकार गिराने में सहयोग किया था और अब फिर आती है तो मैं अशोक गहलोत के खिलाफ अपने तीन एमएलए का वोट बीजेपी को जरूर दूंगा।

‘सोनाराम-हेमाराम की हो रही अनदेखी’
चुनावी जनसभाओं में बेनीवाल कांग्रेस-बीजेपी पर वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी के आरोप भी लगा र्राहे हैं। बाड़मेर की चुनावी जनसभाओं में कल उन्होंने बीजेपी पर कर्नल सोनाराम चौधरी तो वहीं कांग्रेस पर हेमाराम चौधरी की अनदेखी का आरोप लगाया।

‘आरएलपी के बिना प्रधान-जिला प्रमुख नहीं बनेगा’
नागौर सांसद ने कहा है कि राजस्थान में पंचायती राज चुनाव में प्रधान और जिला प्रमुख बिना आरएलपी के इस बार नहीं बनने वाले हैं। बाड़मेर में पंचायती राज चुनाव में पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ रही है और हमारे बिना कुछ भी नहीं हो सकता है।

‘हमने 2023 की तैयारी शुरू कर दी’
तीन विधायक और एक सांसद दिलवाने वाली आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि आरएलपी ने वर्ष 2023 में होने वाले चुनावों के मद्देनज़र तैयारियां अभी से शुरू कर दी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी के लिए पंचायत चुनाव इतने महत्व नहीं रखते जितने आरएलपी के लिए रखते हैं। बेनीवाल अपनी जनसभाओं में कह रहे हैं कि 2023 के हिसाब से पंचायती राज चुनाव में आप अगर आरएलपी को वोट देंगे तो उसकी चोट दिल्ली तक पहुंचेगी।

‘कांग्रेस-बीजेपी ने दिए ऑफर’
बेनीवाल ने कल चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें कांग्रेस-बीजेपी से कई बार मंत्री बनने के ऑफर मिले। उन्होंने कहा कि गहलोत ने कैबिनेट मिनिस्टर तो बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के बाद कैबिनेट मंत्री बनाने के लिए पार्टी मर्ज करने तक का ऑफर दिया। लेकिन बेनीवाल को मंत्री नहीं बनना है। वह हमेशा किसानों की लड़ाई 2023 तक जारी रखेगा।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned