टोंक दुखांतिकाः घायल विनोद और सरिता की आंखों में अब भी ट्रोले दहशत

टोंक सदर थाना अंतर्गत बनास पुलिया पर मंगलवार देर रात हुई भीषण सड़क दुर्घटना में बचे चार घायलों की हालात एसएमएस अस्पताल में गंभीर है। इनमें एक भाई विनोद सोनी और उसकी बहन सरिता सोनी को होश आ गया।

By: kamlesh

Published: 28 Jan 2021, 04:14 PM IST

जयपुर। टोंक सदर थाना अंतर्गत बनास पुलिया पर मंगलवार देर रात हुई भीषण सड़क दुर्घटना में बचे चार घायलों की हालात एसएमएस अस्पताल में गंभीर है। इनमें एक भाई विनोद सोनी और उसकी बहन सरिता सोनी को होश आ गया। लेकिन उन्हें पता नहीं है कि इस हादसे में परिवार किस सदस्य की जान चली गई। एसएमएस हॉस्पिटल में विनोद का भांजा दक्ष और जीजा दिलीप सोनी की हालत गंभीर बनी हुई है।

विनोद और सरिता ने बताया कि मंगलवार रात 9 बजे खाटूश्यामजी से मध्यप्रदेश के राजगढ़ स्थित जीरापुरा घर के लिए निकले थे। करीब पांच सात किलोमीटर चले ही थे, तब एक ढाबे पर भोजन करने ठहर गए। करीब आधा पौन घंटे बाद यहां से रवाना हुए थे। देर रात करीब एक डेढ़ बजे सभी बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान सामने से एक वाहन को ओवरटेकर करते हुए ट्रोला की लाइटें जैसे उनके वाहन में घुसने को तेजी से आती नजर आई।

ऐसे लगा जैसे मौत ही सामने से आ रही है। आंखों के आगे लाइटें नजर आ रही हैं। इसके बाद क्या हुआ, पता नहीं। विनोद ने बताया कि उसका मोबाइल वाहन में पीछे ही गिर गया। वहीं सरिता ने कहा कि उसका पर्स भी उनके वाहन में रखा है। सब लोग टोंक में है और जीजा दिलीप व अक्षत हमारे साथ हॉस्पिटल में है।

22 दिन पैदलचलकर पहुंचे थे खाटूश्यामजी
विनोद और सरिता ने बताया कि 22 दिन पहले जीरापुरा से भाई ललित व पवन पदयात्रा के साथ पैदल ही खाटूश्यामजी के लिए रवाना हुए थे। 25 जनवरी को वे खाटूश्यामजी पहुंचे थे। तब परिवार वाल खाटूश्याजी के दर्शन करने के साथ दोनों भाइयों को लेने के लिए यहां आ गए थे। दोनों बार-बार परिजनों के बारे में पूछताछ कर रहे थे। उनको यह ही बताया गया था कि उनके परिवार वाले टोंक हॉस्पिटल में भर्ती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned