सड़क खोदने पर रोक लगाना भूला जिला प्रशासन

निजी टेलिकॉम कंपनियों की मनमानी
शहर की कई कॉलोनियों में खोदे गड्ढे
शहरवासी परेशान

By: anand yadav

Published: 17 Jun 2020, 01:14 PM IST

जयपुर। मानसून आने से पहले हर साल 15 जून से शहर में सड़क पर खुदाई कार्यों पर रोक लगाने की कवायद इस बार जिला प्रशासन भूल गया है। कोरोना वायरस के चलते जिला प्रशासन के अफसर अन्य कार्यों में व्यस्त हैं ऐसे में अब तक सार्वजनिक स्थानों व सड़कों पर खुदाई संबंधी कार्यों पर रोक नहीं लगाए जाने का सबसे ज्यादा फायदा निजी टेलिकॉम कंपनियां उठा रही हैं। शहर के कई इलाकों में मनमाने तरीके से कंपनियों ने केबल बिछाने का काम बदस्तूर चला रखा है।
गौरतलब है कि हर साल शहर में 15 जून से 15 सितंबर तक मानसून सक्रिय रहने पर शहर में सड़कों पर खुदाई कार्य जिला प्रशासन के आदेश से बंद रहता है। बिना जिला प्रशासन की अनुमति की सरकारी विभााग व गैर सरकारी कंपनियों के लोग शहर में सड़कों पर खुदाई नहीं करा सकते। ऐसे में इस अवधि में जलदाय, बिजली विभागों के कई कार्य भी प्रभावित होते हैं। सरकारी विभागों के अफसरों ने तो जिला प्रशासन से खुदाई कार्य संबंधित जिला प्रशासन के आदेश जारी नहीं होने पर भी विभागीय कार्यों पर रोक लगा दी है। लेकिन शहर में कई जगहों पर अब भी निजी टेलीकॉम कंपनियों के लोग देररात को सड़कों को छलनी कर रहे हैं।
बीते दिनों गोपालपुरा बाइपास रोड पर फाइबर केबिल बिछाने के दौरान चल रहे खुदाई कार्य में देररात टेलीकॉम कंपनियों के कर्मचारियों ने पानी की मेन राइजिंग लाइन तोड़ डाली। जिसके चलते दर्जनों कॉलोनियों में पेयजल संकट रहा। निर्माण नगर में बीते दिनों केबल बिछाने के काम के दौरान खोदे गए गड्ढे में चौपहिया वाहन फंस गए। स्थानीय निवासी सुनील नागौरी ने बताया कि ठेका फर्म के लोग बिना अनुमति देररात आकर सड़कों पर गड्ढे कर रहे हैं। पूछताछ करने या मना करने पर झगड़ने पर भी उतारू हो जाते हैं।

anand yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned