चेन के साथ यादें भी लूट रहें लुटेरे

राजधानी में दो माह में हर दूसरे दिन लूटी चेन, गिरोह सक्रिय

By: Priyanka Yadav

Published: 24 May 2018, 12:09 PM IST

जयपुर . चेन खींचने वाले लुटेरे शहर में बेखौफ घूम रहे हैं। वे दो माह में चेन स्नेचिंग की 30 और पर्स छीनने की 10 वारदात अंजाम दे चुके हैं। पीडि़त महिलाएं आज भी उन खौफनाक क्षणों को नहीं भूली हैं, जब उनसे बाजार के नुक्कड़ पर या मंदिर के सामने से कोई चेन छिनाकर ले गया। उस चेन के साथ उनकी यादें भी जुड़ी थीं, जिन्हें वे आज भी भूल नहीं पा रही हैं।

पोते जन्म पर मिली

10 मई को जवाहर सर्किल इलाके में मंदिर के बाहर से बदमाश शंकर विहार निवासी रामकली (६६) की चेन तोड़ ले गए। यह चेन डेढ़ साल पहले पोते का जन्म पर पति भगवत राम बालोत ने गिफ्ट की थी। वह अब भी डर के मारे सहम जाती हैं।

मां की यादें भी गईं

23 अप्रेल को मालवीय नगर थाना क्षेत्र में मयूर विहार निवासी संतोष भारद्वाज से बदमाश चेन तोडक़र ले गए। यह चेन उसकी मां ने १ साल पहले शादी की १६वीं सालगिरह पर दी थी। चेन के साथ उसकी मां की यादें और शुभकामनाएं भी जुड़ी थी।

मिला था उपहार

30 अप्रेल को पुरुषार्थ नगर, जगतपुरा निवासी नवली देवी (६५) से घर के बाहर से बदमाश चेन तोड़ ले गए। यह उपहार शादी की ३५वीं सालगिरह पर पति आर.के. सिंह ने दिया था। इसी चेन में ४०वीं सालगिरह पर उन्होंने सोने का पेंडल डलवाया था। चेन का जिक्र आमे ही नवली की आंख तर हो जाती हैं। घटना के वक्त उन्होंने बदमाश को पकड़ भी लिया था।

डीसीपी कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा की पिछले दो माह से चेन स्नेचिंग गिरोह सक्रिय है। यह गिरोह जयपुर के आस-पास का है, जो लगातार चेन तोडऩे की वारदात कर रहा है। गिरोह को पकडऩे के लिए टीम लगाई गई हैं।

राज. विवि की मनोवैज्ञानिक मधु जैन ने बताया की बेहतर यही है कि चेन के साथ जुड़ी यादों से बाहर आए। जितना विचार करेंगी उतना दुख होगा।

Priyanka Yadav
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned