सचिवालय में नहीं कोरोना से बचाव के इंतजाम, बिना जांच प्रवेश करते हैं लोग

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते सार्वजनिक स्थानों और कार्यालयों में से ज्यादा लोगों की भीड़ नहीं जुटने के आदेशो का असर फिलहाल राजस्थान शासन सचिवालय पर होता नहीं दिख रहा है।

By: firoz shaifi

Updated: 19 Mar 2020, 09:45 AM IST

जयपुर। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते सार्वजनिक स्थानों और कार्यालयों में से ज्यादा लोगों की भीड़ नहीं जुटने के आदेशो का असर फिलहाल राजस्थान शासन सचिवालय पर होता नहीं दिख रहा है। विशेष परिस्थितियों में ही पास जारी करने के आदेशों के बावजूद में सचिवालय के स्वागत कक्ष में लोगों की भीड़ जुट रही है।

बुधवार को दिनभर इसी तरह का नजार देखने को मिला,जहां पास बनवाने के लिए लोगों को लाइन में लगते हुए नजर आए। है। कोरोना के प्रकोप के बावजूद यहां आने वाले लोगों की सख्या में कोई कमी नहीं आ रही है। हैरत की बात कोरोना से बचाव के लिए सचिवालय प्रशासन के पास ने कोई संसाधन हैं और न ही लोगों की जांच पड़ताल करने वाले उपकरण हैं जिसके चलतो ये यहां बिना जांच पड़ताल के ही लोग प्रवेश कर रहे हैं।


रोजाना आते हैं सैंकड़ों लोग
दरअसल सचिवालय में 4000 से अधिक कर्मचारी और अधिकारी काम करते हैं। वहीं सैकड़ों की संख्या में हर दिन अलग-अलग जिलों से गांव ढाणी से लोग अपनी समस्या और काम को लेकर पहुंचते हैं। दोपहर एक से चार बजे के बीच सचिवालय के स्वागत कक्ष में पास बनवाने के लिए लंबी-लबी लाइने लगती हैं।

बावजूद इसके सरकार के स्तर पर यहां कोरोना से जुड़ी कोई जांच व्यवस्था शुरू नहीं की गई है। इसके चलते सवाल उठ रहे हैं कि जब पूरे प्रदेश में स्कूल, कॉलेज, मॉल, सिनेमा हॉल, मेले, पर्यटन स्थल इन सब को बंद कर दिया गया है तो फिर सचिवालय इस तरह की लापरवाही क्यों बरती जा रही है।

हालांकि बुधवार रात पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू होने के बाद माना जा रहा है कि सचिवालय में ज्यादा लोग न आए, इससे लेकर भी सख्त हिदायत दी जा सकती है।

Corona virus
firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned