युवाओं के लिए आरएसएलडीसी की स्पेशल असेसमेंट ड्राइव


अगले माह से शुरू होगी ड्राइव
ड्राइव के जरिए मिलेगी सर्टिफिकेशन की सुविधा
अब तक दी गई 14 हजार युवाओं को ट्रेनिंग
1.5 लाख युवाओं को स्किल डवलपलमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम से जोडऩे का लक्ष्य

By: Rakhi Hajela

Updated: 08 Apr 2021, 06:35 PM IST



जयपुर।
राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम "आरएसएलडीसी ***** (Rajasthan Skills and Livelihoods Development Corporation "RSLDC") ने कोविड के दौरान भी युवाओं में स्किल डवलपमेंट (Skill Development)की ट्रेनिंग को रफ्तार दी है। जानकारी के मुताबिक आरएसएलडीसी(RSLDC) ने सितंबर 2020 से लेकर 31 मार्च 2021 तक विभिन्न योजनाओं के तहत करीब 14 हजार युवाओं को ट्रेनिंग दी गई है और अब आरएसएलडीसी स्किल डवलपमेंट ट्रेनिंग प्राप्त कर चुके युवाओं के लिए अगले तीन माह तक प्रदेश के तीन माह मई, जून और जुलाई में प्रदेश के सभी जिलों में स्पेशल असेसमेंट ड्राइव आयोजित करेगा। इस ड्राइव के जरिए उन्हें सर्टिफिकेशन की सुविधा दिलवाई जाएगी जो उन्हें रोजगार दिलवाने में मददगार साबित होगी। जानकारी के मुताबिक वर्तमान वित्तीय वर्ष के तहत आरएसएलडीसी ने विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लगभग 1.5 लाख युवाओं को स्किल डवलपलमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम से जोडऩे का लक्ष्य रखा है।
लॉकडाउन के बाद 14 हजार युवाओं को ट्रेनिंग
गुरुवार को राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (आरएसएलडीसी) के अध्यक्ष डॉ. नीरज के पवन ने विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक ली जिसमें वित्तीय वर्ष 2020-2021 के दौरान चलाई जा रही योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट पर निगम के अधिकारियों से चर्चा की। बैठक में निगम के अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन के बाद 21 सितंबर 2020 को फिर से स्किल डवलपमेंट ट्रेनिंग फिर से शुरू की गई। सितंबर 2020 से लेकर 31 मार्च 2021 तक आरएसएलडीसी की विभिन्न योजनाओं के तहत करीब 14 हजार युवाओं को ट्रेनिंग दी गई। वहीं वर्तमान में राज्य के 336 कौशल विकास केंद्रों पर 891 बैचों के माध्यम से करीब 25 हजार युवाओं का कौशल प्रशिक्षण करवाया जा रहा है। ये आंकडे कोरोना काल की परिस्थितियों को देखते हुए एक उल्लेखनीय उपलब्धि है। युवाओं की सेहत एवं सुरक्षा को देखते हुए इन सभी कौशल केन्द्रों पर कोरोना गाइडलाइंस की भी पालना की जा रही है।
जल जीवन मिशन के तहत 36526 युवाओं को ट्रेनिंग
आरएसएलडीसी ने हाल ही में वॉटर सेनिटाइजेशन सपोर्ट ऑर्गेनाइजेशन डब्ल्यूएसएसओ के साथ एमओयू किया था। जिसे जल जीवन मिशन के नाम से भी जाना जाता है। इस मिशन के तहत राज्य के युवाओं को इलेक्ट्रिकल, प्लमबिंग और फिटर का तीन दिवसीय प्रशिक्षण करवाया जा रहा है। जल जीवन मिशन के तहत अभी तक 1242 बैचों में 36526 युवाओं को प्रशिक्षित किया गया जिसमें 4009 महिलाएं शामिल हैं। इस समझौते के तहत आरएसएलडीसी राज्य के 45000 युवाओं और महिलाओं को प्रशिक्षित करेगा। इस समीक्षा बैठक में आरएसएलडीसी के प्रबंध निदेशक प्रदीप के गवांडे, महाप्रबंधक प्रथम करतार सिंह, महाप्रबंधक द्वितीय सतीश महला, महाप्रबंधक तृतीय डीपी सैनी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned