राजस्थान में हजारों पदों पर नहीं हो रही भर्तियां, 14 लाख अभ्यर्थियों की आस अटकी

Rajasthan के सरकारी विभागों में कर्मचारियों की भर्ती करने वाला राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड खुद ही भर्तियों की बांट जो रहा है।

By: santosh

Published: 28 Jan 2021, 11:35 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर। Rajasthan के सरकारी विभागों में कर्मचारियों की भर्ती करने वाला राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड खुद ही भर्तियों की बांट जो रहा है। बोर्ड में अब न तो अध्यक्ष है न ही सचिव। इतना ही नहीं, बोर्ड में सदस्य तक नहीं है। ऐसे में अब बोर्ड सिर्फ कर्मचारियों के भरोसे ही चल रहा है। बोर्ड में नियुक्तियां नहीं होने से प्रदेश के 14 लाख अभ्यर्थियों का भविष्य अंधकार में है। करीब छह हजार से अधिक पदों पर भर्तियां अटकी हुई है।

गौरतलब है कि एक साल में दो भर्ती परीक्षाओं के पेपर आउट होने के बाद विवादों में आए राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष बीएल जाटावट को इस्तीफा देना पड़ा था। वहीं, सचिव का तबादला होने के बाद यहां कोई अधिकारी नहीं लगाया गया है। वहीं, सदस्यों का कार्यकाल पहले ही पूरा हो चुका है।

ज्ञापन भी किसे दें:
अटकी भर्तियों को लेकर छात्रों की सुनवाई करने वाला बोर्ड में कोई नहीं बचा। स्थिति यह है कि छात्रों ने बोर्ड पर प्रदर्शन करना बंद कर दिया। ज्ञापन भी किसे दें। अब छात्रों को बोर्ड भर्तियों के मामले में राजस्थान यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

ये भर्तियां अटकी:
पटवारी भर्ती : करीब 4400 पद ( जनवरी में प्रस्तावित,अब स्थगित, नई परीक्षा तारीख घोषित नहीं होने से करीब 12-13 लाख अभ्यर्थी प्रतीक्षारत)
स्टेनोग्राफर : करीब 1100 पद (परीक्षा 21 मार्च को होना प्रस्तावित, परीक्षा समय पर होगी या नहीं, अभ्यर्थियों में कन्फ्यूजन)
जेइएन भर्ती : 6 दिसम्बर को हुआ पेपर सोशल मीडिया पर आउट हो गया था। पेपर को निरस्त कर दिया गया। दोबारा परीक्षा का शेड्यूल नहीं है। वहीं कृषि पर्यवेक्षक, जेइएन, ग्राम सेवक आदि कई भर्तियों की अभ्यर्थना बोर्ड के पास पड़ी हुई है। इनकी विज्ञप्ति जारी की जानी है।

- राज्य सरकार जल्द से जल्द अध्यक्ष व सचिव की नियुक्ति करें। ताकि भर्तियों की विज्ञप्ति जारी हो सके व परीक्षाएं करवाई जा सके।
उपेन यादव, प्रदेशाध्यक्ष, राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned