एसीबी के हत्थे चढ़े आरएसआरडीसी के अफसर 3 करोड़ की कोठी, एक करोड़ का निवेश

एनएम शर्मा के घर पर सर्च करने पहुूंची टीम को मालवीयनगर स्थित मकान की अनुमानित कीमत तीन करोड़ और करीब एक करोड़ का निवेश मिला है। वहीं एक लॉकर होने की जानकारी मिली है जिसे सोमवार को खोला जाएगा।

By: Dinesh Gautam

Updated: 12 Jun 2020, 10:15 PM IST

जयपुर
आरएसआरडीसी के अधिकारियों को रिश्वत लेने के मामले में एसीबी ने चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर नरेंद्र मोहन शर्मा और संवेदक बीकानेर निवासी रामसिंह को भी गिरफ्तार कर लिया। वहीं एनएम शर्मा के घर पर सर्च करने पहुूंची टीम को मालवीयनगर स्थित मकान की अनुमानित कीमत तीन करोड़ और करीब एक करोड़ का निवेश मिला है। वहीं एक लॉकर होने की जानकारी मिली है जिसे सोमवार को खोला जाएगा।
एसीबी एएसपी पृथ्वीराज मीना ने बताया कि गिरफ्तार चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 25 जून तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। चारों की कोविड जांच कराई गई है रिपोर्ट आने के बाद जेल में भेजा जाएगा। वहीं इससे पहले एसीबी ने प्रोजेक्ट निदेशक लक्ष्मण सिंह और फर्म के मालिक के भाई राजेश बाधवा को गिरफ्तार किया है।
तिमंजिला मकान कीमत तीन करोड़
चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर एनएम शर्मा के मालवीयनगर स्थित मकान पर पहुंचे तो शानदार तिमंजिला मकान था। मकान को भव्य तरीके से बनाया हुआ था। कीमती सामान लगाया हुआ था। एसीबी ने मकान की अनुमानित कीमत 3 करोड़ आंकी है। वहीं 55 लाख का म्यूचुअल फंड, 23 लाख की पॉलिसी, 6 लाख की एफडीआर और 17 लाख के करीब पर्सनल प्रोविडेंट फंड में निवेश मिला है। वहीं एक लॉकर गांधीनगर में है जिसे सोमवार को खोला जाएगा।
दलाल को भेजा जेल, हैड कांस्टेबल फरार
उधर, सांगानेर से पकड़े गए दलाल हनुमान मीणा को भी शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। वहीं थाने का हैड कांस्टेबल तेजराम फरार हो गया है। जिसके पास परिवादी के मामले की जांच थी और जिसके बदले दलाल से 50 हजार रुपए की डिमांड की गई।

Dinesh Gautam
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned