राजस्थान: फिर RSS कार्यकर्ता पर जानलेवा हमला, पूनिया ने गहलोत से पूछा- ‘क्या श्रीराम मंदिर के लिए चंदा जुटाना अपराध है?’

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रहण पर फिर गरमाई प्रदेश की सियासत, रामगंजमंडी के बाद बाड़मेर में हुआ आरएसएस कार्यकर्ता पर जानलेवा हमला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने साधा गहलोत सरकार पर निशाना, लगातार हो रही हमले की घटनाओं पर नियंत्रण पाने की अपील

 

By: nakul

Published: 25 Feb 2021, 02:01 PM IST

जयपुर।

राजस्थान में एक बार फिर श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर सियासत गरमा गई है। दरअसल, अयोध्या में बनने वाले श्रीराम मंदिर के लिए प्रदेश में जारी धन संग्रहण के दौरान आरएसएस कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले की लागातार घटनाएं हो रही हैं। कोटा के रामगंजमंडी के बाद अब बाड़मेर में भी एक आरएसएस कार्यकर्ता पर धन संग्रहण के दौरान ही जानलेवा हमले की घटना हुई है। एक के बाद एक हुई इन घटनाओं के बाद भाजपा ने भी गहलोत सरकार को कटघरे में रखते हुए निशाने पर लिया है।

‘प्रदेश में ये कैसी कानून व्यवस्था?’
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने आज एक बयान जारी करते हुए आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों पर चिंता जताई है, साथ ही सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कई सवाल भी दागे हैं। डॉ पूनिया ने अपने वक्तव्य में कहा, ‘आरएसएस कार्यकर्ताओं पर लगातार हमले जारी है। रामगंजमंडी के बाद अब बाड़मेर जिले में वैसी ही घटना सामने आई है। प्रदेश की कानून व्यवस्था कैसी है?’

‘क्या श्रीराम मंदिर के लिए चंदा जुटाना अपराध है?’
पूनिया ने मुख्यमंत्री से ये भी सवाल किया है कि क्या अयोध्या में बनने वाले श्रीराम मंदिर के लिए चंदा जुटाना कोई अपराध है? उन्होंने इन हमलों को रोकने के लिए फ़ौरन उचित कदम उठाने की अपील भी की है।

ये हुई है बाड़मेर में घटना
बाड़मेर के चौहटन थाना क्षेत्र के ईटादा गांव में अयोध्या के श्रीराम मंदिर के लिए धन संग्रहण कर रहे दौलत सिंह नाम के एक युवक पर कुछ लोगों ने चाकुओं से जानलेवा हमला किया गया है। गंभीर घायल युवक का फिलहाल राजकीय अस्पताल में इलाज चल रहा है।

भाजपा जिलाध्यक्ष आदूराम मेघवाल की भी मानें तो दौलत सिंह श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के लिए निधि संग्रहण के लिए गया हुआ था, ऐसे में ईटादा गांव के लिए कुछ अल्पसंख्यक युवकों द्वारा जान से मारने के नियत से चाकुओं से जानलेवा हमला किया गया है।

पुलिस मान रही आपसी रंजिश में हमला
बाड़मेर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरपत सिंह के अनुसार ये जानलेवा हमला आपसी रंजिश के चलते किया गया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी को हिरासत में लेकर पूरे प्रकरण की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

जांच में सामने आएगा सच
भाजपा जिलाध्यक्ष और पुलिस के विरोधाभासी बयानों से अब जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि राम जन्मभूमि के लिए निधि सग्रहण को लेकर हमला किया गया या फिर आपसी रंजिश के चलते।

खूब गर्माया था कोटा का मामला
बाड़मेर से पहले कोटा के रामगंजमंडी में आरएसएस के जिला संघचालक दीपक शाह पर लगभग दो हफ्ते पहले जानलेवा हमला हुआ था। वे भी श्रीराम मंदिर के लिए धन संग्रहण के कार्य में जुटे हुए थे। शाह पर हमले के बाद मामले ने काफी तूल पकड़ लिया था। ये मामला विधानसभा के सदन में भी उठा जिसपर सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच गरमाई बहस भी हुई।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned