scriptrtdc | पर्यटन निगम— फायदे पर चल रही जयपुर की होटल तीज को को किराए पर देने की तैयारियां— विरोध शुरू | Patrika News

पर्यटन निगम— फायदे पर चल रही जयपुर की होटल तीज को को किराए पर देने की तैयारियां— विरोध शुरू


जयपुर शहर में स्थित आरटीडीसी की होटल तीज वाणिज्यिक कर विभाग को किराए पर देने की तैयारी
होटल प्रबंधन और स्टॉफ में मची खलबली
कर्मचारी बोले—योजना घाटे में चल रहे होटलों को लीज पर देने की बनी थी,फायदे में चल रहे होटलों को किराए देने से होगा नुकसान

जयपुर

Updated: November 15, 2021 08:55:35 am


जयपुर।
राजस्थान पर्यटन निगम प्रबंधन ने निगम के अधीन होटलों को बंद करने की आखिरी कोशिश शुरू कर दी है। पर्यटन निगम ने घाटे में चल रहे होटलों को लीज पर देने की योजना बनाई थी। लेकिन अफसर उदयपुर के लीज घोटाले में नपे तो अब फायदे में चल रहे होटलों को ही किराए पर उठा कर बंद करने की तैयारी में जुट गए हैं। आरटीडीसी के अफसरों की बातों में सामने आया है कि पर्यटन विभाग और वाणिज्यिक कर विभाग के अफसरों के बीच मंथन के बाद अब कर विभाग बनीपार्क सर्कल स्थित पर्यटन निगम की होटल तीज को किराए पर लेने की तैयारी कर रहा है। विभाग की ओर से पर्यटन निगम को इस आशय का पत्र मिलने के बाद होटल स्वागत के स्टॉफ में खलबली मच गई है। अब होटल को किराए पर देने के वाणिज्यिक कर विभाग के पत्र पर निगम अफसरों को निर्णय करना है।
rtdc
,
कर्मचारी बोले—घाटे में नहीं होटल,फरवरी तक 400 कमरे बुक
होटल कर्मचारियों ने बताया कि घाटे में चल रहे होटलों को लीज पर देने की योजना बनी। लेकिन होटल तीज फायदे में चल रही है। होटल में 47 कमरे हैं और महीने भर 20 प्रतिशत कमरे बुक रहते हैं। अब शादियों के सीजन में फरवरी तक 400 कमरे बुक हैं। होटल अपना खर्चा खुद ही निकाल रहा है। होटल को किराए पर दिया जाता है तो इसकी ब्रांड वैल्यू हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।
कर भवन से लेकर संभागीय कार्यालय में बैठने की जगह तक नहीं
वाणिज्यिक कर विभाग के अधिकारियों के अनुसार विभाग का 1 नवंबर को पुर्नगठन हुआ है। इसके बाद सर्कल खत्म हुए तो 250 से ज्यादा एसीटीओ,सीटीओ व इससे उपर के अधिकारियों को कर भवन और झालाना स्थित संभागीय कार्यालय में पोस्टिंग मिली। अब स्थिति ऐसी है कि कर भवन और संभागीय कार्यालय में स्टाफ के बैठने की जगह तो दूर,गलियारों में फाइलों का अंबार लगा हुआ है।
विभाग में काम ठप हुआ तो आनन फानन में होटलों को किराए पर लेकर अफसरों के बैठने और फाइलों को रखने की जुगत लगाई जा रही है।
मांगी होटल के नक्शे की कॉपी और दस्तावेज
वाणिज्यिक कर विभाग ने आरटीडीसी प्रबंधन से होटल स्वागत को किराए पर लेने से पहले होटल का नक्शा और अन्य दस्तावेज मांगे हैं। विभाग सार्वजनिक निर्माण विभाग से होटल का वैल्यूएशन कराएगा और फिर विभाग की निर्धारित रेट पर किराए पर लेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

लता मंगेशकर की हालत में सुधार, मंत्री स्मृति ईरानी ने की अफवाह न फैलाने की अपीलAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनावKanimozhi ने जारी किया हिन्दी सब-टाइटल वाला वीडियोIndian Railways News: रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, 22 महीने बाद लोकल स्पेशल ट्रेनों में इस तारीख से MST होगी बहालएक किस्साः जब बाल ठाकरे ने कह दिया था- मैं महाराष्ट्र का राजा बनूंगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.