कार्यवाहक रजिस्ट्रार ने दी पदोन्नति, विवाद पर विवि ने आदेश किए निरस्त

www.patrika.com

 

By: Avinash Bakolia

Published: 03 Mar 2019, 12:36 PM IST

जयपुर @पत्रिका. राजस्थान विवि में कार्यवाहक रजिस्ट्रार की ओर से पद का फायदा उठाते हुए तीन चहेते कर्मचारियों को पदोन्नति देने का मामला सामने आया है। विवाद बढ़ा तो विवि ने महज दो दिन में ही पदोन्नति के आदेेश निरस्त कर दिए। विवि में लम्बे समय से कर्मचारी पदोन्नति की मांग कर रहे थे। इसके बाद विवि ने पदोन्नति के कमेटी का गठन भी कर दिया। लेकिन, मामला आगे नहीं बढ़ा। वहीं, तीन दिन पहले रजिस्ट्रार केसर लाल मीणा का तबादला होने पर उनका चार्ज विवि के वित्त नियंत्रक उम्मेद सिंह को दिया गया। उन्होंने बतौर कार्यवाहक रजिस्ट्रार 27 फरवरी को केवल तीन कर्मचारियों की पदोन्नति सूची जारी कर दी। जबकि जानकारी के अनुसार विवि में 11 पद खाली थे। इन पर 11 कर्मचारियों की पदोन्नति की जानी थी। जब यह बात अन्य कर्मचारियों को पता चली तो उन्होंने शनिवार को हंगामा कर दिया। विवि में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। उन्होंने बताया कि कमेटी के कन्वीनर इन दिनों अवकाश पर हैं। वहीं, डीपीसी की बैठक का नोटिस तीन दिन पहले नहीं निकाला गया। न ही कमेटी का कोरम पूरा था।

नए रजिस्ट्रार ने निरस्त किए आदेश
वहीं, विवि में शनिवार को रजिस्ट्रार के पद पर विवेक कुमार ने कार्यभार ग्रहण कर लिया। उन्होंने तीनों कर्मचारियों की पदोन्नति आदेश निरस्त करने के नए आदेश जारी कर दिए। रजिस्ट्रार विवेक कुमार ने बताया कि कुलपति के निर्देश पर पदोन्नति के आदेश निरस्त किए गए हैं। वही, मामले पर वित्त नियंत्रक से पक्ष जानने के लिए फोन किया गया, लेकिन उन्होंने बात नहीं की।

Avinash Bakolia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned