राजस्थान यूनिवर्सिटी में  हंगामा


प्रशासन से शिक्षकों का हुआ झगड़ा
बीते तीन दिनों से चल रहा है आंदोलन
प्रशासनिक अधिकारियों पर धक्का मुक्की, बदतमीजी के लगाए आरोप
शिक्षकों ने आरयू प्रशासन पर लगाए आरोप

By: Rakhi Hajela

Published: 14 Oct 2020, 11:07 PM IST

शिक्षा के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले राजस्थान विवि की गरिमा को आज शिक्षकों और विवि प्रशासन के बीच हुए हंगामे ने तार तार कर दिया। जानकारी के मुताबिक पिछले तीन दिनों से चल रहे गतिरोध के बाद आज शिक्षक कुलपति से मिलने पहुंचे थे। इसी दौरान शिक्षकों ने सिंडिकेट सदस्य राम लखन सिंह को भी बाहर ही रोके रखा। जिन्हें लेने के लिए बाहर आए रजिस्ट्रार और प्रोफेसर्स आमने सामने हो गए। जब कुलपति से प्रोफेसर्स वार्ता कर रहे थेउसी दौरान रजिस्ट्रार संडिकेट सदस्य को अंदर ले जाने का प्रयास करने लगे जिस पर गुस्साए शिक्षकों ने रजिस्ट्रार का हाथ पकड़ लिया। इसके बाद शिक्षकों और रजिस्ट्रार के बीच हाथापाई शुरू हो गई। अचानक हुई धक्का मुक्की से विवि का माहौल गर्मा गया। जानकारी के मुताबिक इस पूरे प्रकरण के दौरान मौके पर बड़ी संख्या में महिला शिक्षिकाएं भी उपस्थित थींए वह भी इस धक्का मुक्की की चपेट में आ गई और भीड़ में फंस गईं। इस दौरान उनकी सीनेट सदस्य विनोद शर्मा के साथ धक्का मुक्की हुई। इस दौरान कुलपति भी दरवाजे के अंदर से यह पूरा नजारा देखते रहे। हालांकि बाद में उन्होंने बाहर निकल मामला शांत कराने की कोशिश की लेकिन तब तक पूरा माहौल खराब हो चुका था।

रजिस्ट्रार के खिलाफ कार्रवाई की मांग
शिक्षकों ने रजिस्ट्रार की शिकायत सीएम और राज्यपाल से करने और हाथापाई करने के चलते पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है। पूरे प्रकरण को लेकर राजस्थान विवि शिक्षक संघ ने कुलसचिव के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि जब तक कुलसचिव को छुट्टी पर नहीं भेजा जाता और उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज नहीं करवाई जाती तब तक शिक्षक काम का बहिष्कार करेंगे हालांकि इसका असर परीक्षा पर नहीं पड़ेगा। परीक्षाएं यथावत जारी रहेंगी और शिक्षक परीक्षाओं के दौरान अपनी ड्यूटी करेंगे।

परिषद भी आया आगे
इस पूरे प्रकरण को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कुलपति से इस्तीफे की मांग करते हुए रजिस्ट्रार के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की है। परिषद के प्रदेश मंत्री होशियार मीणा ने कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता होता है और सरकार के इशारे पर राजस्थान विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार द्वारा शिक्षकों साथ हाथापाई करना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है समस्त छात्र और विद्यार्थी परिषद शिक्षकों के साथ खड़ा हुआ है । रजिस्ट्रार के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए साथ ही कुलपति प्रो. राजीव जैन को इस्तीफा देना चाहिए।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned