कैलिफोर्निया सालमन को संरक्षण की जरूरत

जलवायु परिवर्तन के परिणामस्वरूप कैलिफोर्निया में सूखा लगातार और तीव्र होता जा रहा है।

By: Kiran Kaur

Published: 21 May 2020, 01:10 PM IST

कैलिफोर्निया में लगातार पड़ रहे सूखे से सालमन मछलियां संकट में हैं। हाल में यूसी सेन डिएगो यूनिवर्सिटी की ओर से किए गए एक अध्ययन में पाया गया है कि संरक्षण के जरिए इनकी संख्या में बड़ा बदलाव हो सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, ड्रॉट रिफ्यूज के रूप में काम करने वाले पूल कैलिफोर्निया की संकटाग्रस्त सालमन के जोखिम को काफी कम कर सकते हैं। विशेषज्ञों ने 2011 से 2017 तक सोनोमा काउंटी में धाराओं में लगभग 20,000 मछलियों की निगरानी की। रूसी नदी वॉटरशेड कॉहो सालमन के एक लुप्तप्राय समूह का घर है, जो लगभग दो दशक पहले गायब हो गया था, लेकिन संरक्षण के प्रयासों से आबादी को ठीक होने में मदद मिली है। अध्ययन के सह-लेखक प्रोफेसर रॉस वेंडर वोरस्टे ने कहा, जलवायु परिवर्तन के परिणामस्वरूप कैलिफोर्निया में सूखा लगातार और तीव्र होता जा रहा है। छोटी धारायें जिन पर अक्सर सालमन निर्भर करती है, सूखे की स्थिति में सूख जाती हैं, जिससे मछलियों पर असर पड़ता है। विशेषज्ञों ने यह शोध किया कि भविष्य का सूखा उनकी आबादी को किस तरह से प्रभावित करेगा। टीम यह भी अनुमान लगाना चाहती थी कि शुष्क गर्मियों के महीनों में सालमन आबादी का समर्थन करने के लिए कितना पानी चाहिए होगा।टीम ने पाया कि चरम सूखे के दौरान भी, कई स्ट्रीम पूल रिफ्यूजी के रूप में काम करते हैं। हालांकि अन्य क्षेत्रों में बहते पानी के जालों की कमी से सूखने वाले पूलों में सालमन की उच्च मृत्यु दर पाई गई। प्रोफेसर वेंडर वोरस्टे ने कहा, अधिकांश भाग में जब तक कि गर्मियों में जलाशयों में पानी रहता है, सालमन जीवित रहने में सक्षम थी। भले ही कई पूलों में जीवित रहने में कमी देखी गई लेकिन कुछ स्थान ऐसे थे जो शरण स्थल के रूप में उभरे। यह वास्तव में महत्वपूर्ण है कि कई जलाशयों ने सालमन के अस्तित्व को बनाए रखने वाली स्थितियों को बनाए रखा।

Kiran Kaur Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned