हर जुबां पर एक ही कहानी, पानी और सिर्फ पानी...

सुदूर गांवों में पेयजल संकट के हालात पर चले टैंकर: बांसवाड़ा ब्लॉक में भी बिखरी बस्तियों में संकट बांसवाड़ा. गर्मी की शुरुआत होने के साथ ही जिले के दूरस्थ और सीमावर्ती गांवों में पेयजल संकट के हालात बनने शुरू हो गए हैं। ग्रामीण सुबह से लेकर तपती दुपहरी तक पानी का जुगाड़ करने में जुटे हैं। जिले में कुशलगढ़, सज्जनगढ़ और छोटी सरवन पंचायत समिति क्षेत्र इससे सर्वाधिक प्रभावित है। हालांकि उपखंड स्तरीय समिति की अनुशंसा के बाद जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की ओर से टैंकरों से जल परिवहन शुरू कर दिया।

By: Sudhir Bile Bhatnagar

Updated: 16 May 2020, 05:27 PM IST

जिले में लगातार गर्मी बढ़ रही है। शुक्रवार को तापमापी का पारा 42 डिग्री सेल्सियस को छू गया। इन दिनों शहर में सुबह दस बजे के आसपास ही गर्मी का अहसास शुरू हो जाता है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। तेज गर्मी के बीच पानी के लिए महिलाओं की भागदौड़ भी बढ़ रही है। सबसे अधिक संकट की स्थिति कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में आने वाले गांवों में हैं। वहीं बांसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के छोटी सरवन और आंबापुरा क्षेत्र में भी कमोबेश यही हालात हैं। माही बांध के किनारे स्थित इस क्षेत्र की स्थिति जल बीच मीन प्यासी जैसी है। इन दिनों स्कू ल बंद होने से बच्चे भी घर में जो बर्तन हाथ आया, उसे लेकर साथ जा रहे हैं। इधर, कंटीजेंसी में जिले के विभिन्न क्षेत्रों में 49.99 लाख रुपए के कार्य स्वीकृत किए गए हैं। इसमें अरबन बांसवाड़ा व कुशलगढ़ में पाइप लाइन बदलने, तलवाड़ा व अरथूना में पंपसेट बदलने, बोरी में पंपसेट व पाइप लाइन बदलने और नरवाली में इन फिल्ट्रेशन गैलेरी कार्य होंगे।
यहां टैंकर से हो रही जलापूर्ति
जल संकट के बीच जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का दावा है कि जिले में स्थिति नियंत्रण में हैं। कुशलगढ़, सज्जनगढ़ व छोटी सरवन क्षेत्र में जल परिवहन किया जा रहा है। प्राविधिक सहायक एसएस सेठी के अनुसार कुशलगढ़ में 104, सज्जनगढ़ में 19 व छोटी सरवन में पांच स्थानों पर एसडीएम स्तरीय कमेटी की अनुशंसा पर जल परिवहन किया जा रहा है। कुशलगढ़ में 157, सज्जनगढ़ में 31 व छोटी सरवन में पांच ट्रिप्स हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि जिले में विशेष हैंडपंप मरम्मत अभियान भी चल रहा है। इसमें ग्रामीण क्षेत्र में 346 व तीनों शहरी क्षेत्र में 33 हैंडपंपों की मरम्मत की गई है।

Sudhir Bile Bhatnagar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned