संस्कृत विवि शिक्षक संघ ने की शिक्षक निलंबन की निंदा

संस्कृत विवि शिक्षक संघ ने की शिक्षक निलंबन की निंदा

By: Rakhi Hajela

Published: 16 Oct 2020, 03:26 PM IST

संस्कृत विवि शिक्षक संघ ने की शिक्षक निलंबन की निंदा

जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने राजस्थान विश्वविद्यालय में डॉक्टर विनोद शर्मा और डॉक्टर जयंत सिंह के निलंबन की कठोर शब्दों में निंदा की है। संघ के सचिव शास्त्री कोसलेंद्रदास ने बताया कि विश्वविद्यालय में शिक्षक और विद्यार्थी सबसे महत्वपूर्ण हैं। इनके अध्ययन अध्यापन में बाधा उत्पन्न न हो, इसलिए अशैक्षणिक वर्ग होता है। राजस्थान विश्वविद्यालय में शिक्षकों के निलंबन से शिक्षा जगत का माहौल खराब हुआ है। इससे विश्वविद्यालय के ऐतिहासिक स्वरूप को भारी नुकसान हुआ है, जिसकी भरपाई तुरंत होनी चाहिए। संस्कृत विवि शिक्षक संघ की राजस्थान विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग है कि शिक्षकों का निलंबन तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए।
गौरतलब है कि दो दिन पूर्व कुलसचिव और शिक्षकों के मध्य हुए विवाद के बाद इन दो शिक्षकों को निलम्बित करने के आदेश विश्वविद्यालय प्रशासन ने जारी कर दिए थे। इसके बाद शिक्षक कल रात कुलसचिव के आवास के बाहर धरने पर बैठ गए थे और निलम्बन वापस लिए जाने की मांग कर रहे थे।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned