सराफ का गहलोत पर क्षेत्रवाद का आरोप, कहा जोधपुर के साथ जयपुर को भी बचाएं सीएम

पूर्व चिकित्सा मंत्री और भाजपा विधायक कालीचरण सरकार ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कोरोना महामारी में राजधानी जयपुर के साथ भेदभाव और क्षेत्रवाद का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सीएम को जोधपुर के साथ जयपुर और अन्य जिलों को भी कोरोना महामारी से बचाने में भरसक प्रयास करने चाहिए। राजधानी जयपुर में कोरोना के हालात नियंत्रण से बाहर हैं।

By: Umesh Sharma

Updated: 17 Sep 2020, 07:22 PM IST

जयपुर।

पूर्व चिकित्सा मंत्री और भाजपा विधायक कालीचरण सरकार ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कोरोना महामारी में राजधानी जयपुर के साथ भेदभाव और क्षेत्रवाद का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सीएम को जोधपुर के साथ जयपुर और अन्य जिलों को भी कोरोना महामारी से बचाने में भरसक प्रयास करने चाहिए। राजधानी जयपुर में कोरोना के हालात नियंत्रण से बाहर हैं।

सराफ ने कहा कि राजधानी जयपुर की आबादी 30 लाख है और केवल 3 लाख 20 हजार टेस्ट हुए हैं, जो आबादी का 10.3 प्रतिशत है और जोधपुर की आबादी 10 लाख है और टेस्ट 3 लाख 50 हजार हो चुके हैं जो कुल आबादी का 35 प्रतिशत है।इसके साथ ही राजधानी जयपुर की रिकवरी रेट भी प्रदेश और जोधपुर से कम है जो चिंताजनक है। पिछले दिनों प्रदेश के प्रसिद्ध दो चिकित्सक दिनेश जिंदल और पवन गोयल को भी आइसीयू बेड देरी से मिला, जिससे प्रदेश को दो अनुभवी चिकित्सकों से हाथ धोना पड़ा है।

सराफ ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत के झूठे दावो की पोल खुल रही है। जयपुर में वेंटिलेटर एवं ऑक्सीजन युक्त आईसीयू बेड की जबरदस्त कमी दिखाई दे रही है, जिससे कोरोना के मरीज इलाज लेने में सक्षम नहीं हो रहे हैं और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी केवल और केवल मात्र घोषणाएं कर रहे हैं जबकि जयपुर में स्थिति विस्फोटक होती जा रही है। सराफ ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बैड की संख्या मैं वृद्धि की जाए और निजी अस्पतालों की मनमानी पर रोक लगाई जाए।

COVID-19 virus
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned