सरपंच के उम्मीदवारों का प्रचार हुआ तेज, मतदान 10 को

पंचायती राज संस्थाओं के चौथे चरण की 897 ग्राम पंचायतों में 10 अक्टूबर को चुनाव कराया जाएगा।

By: rahul

Published: 08 Oct 2020, 07:00 PM IST

जयपुर। पंचायती राज संस्थाओं के चौथे चरण की 897 ग्राम पंचायतों में 10 अक्टूबर को चुनाव कराया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने 16 जिलों के लिए चुनाव पर्यवेक्षक भी लगा दिए है। चौथे चरण की 897 ग्राम पंचायतों पर प्रातः 7.30 से सायं 5.30 बजे तक मतदान करवाया जाएगा। सरपंच के उम्मीदवार घर घर जाकर वोट मांग रहे है। कई जगह चुनाव आचार संहिता भी तोड़ी जा रही है और मतदाताओं को लुभाने का खेल भी चल रहा है।
मतदान समाप्ति के बाद सभी पंचायत मुख्यालयों पर मतगणना करवाई जाएगी। 11 अक्टूबर को उपसरपंच का चुनाव होगा। इन पंचायतों के 4339 मतदान केंद्रों पर 30 लाख 56 हजार 742 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें से 15 लाख 97 हजार 612 पुरुष, 14 लाख 59 हजार 111 महिलाएं और 19 अन्य मतदाता शामिल हैं।
आयोग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और सचिव श्यामसिंह राजपुरोहित ने बताया कि पर्यवेक्षकों में भारतीय प्रशासनिक सेवा व राजस्थान प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारियों को यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है। उन्होंने बताया कि शैली किशनानी को अलवर, नरेन्द्र सिंह पुरोहित को बाड़मेर, ओंकार लाल को भीलवाड़ा, मूलचंद को बीकानेर, डॉ. शिवप्रसाद सिंह को चूरू और हृदेश कुमार शर्मा को दौसा जिले की पंचायतों के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है।

राजपुरोहित ने बताया कि चित्रा गुप्ता को जयपुर जिले के चाकसू, डॉ. हरसहाय मीणा को तूंगा, डॉ. हरसहाय मीना को सांभरलेक और जगवीर सिंह को शाहपुरा के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। इसी तरह हरभान मीना को जैसलमेर, नखतदान बारहट को जालौर, सेवाराम स्वामी को झुझूनूं, दुर्गेश कुमार बिस्सा को जोधपुर, केसरलाल मीना को करौली, सुखवीर सैनी को नागौर, चावंडदान चारण को प्रतापगढ़, डॉ. मनीषा अरोड़ा को सीकर और छोगाराम देवासी को उदयपुर जिले की पंचायत समितियों के लिए पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी दी है।

rahul Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned