दोनों मिलकर करें भविष्य के लिए बचत

आप बचत के लिए एक समय निर्धारित कर सकते हैं। यदि पहले प्रयास में लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाए तो निराश न हों क्योंकि आपने शुरुआत कर दी है।

By: Kiran Kaur

Updated: 16 May 2021, 07:16 PM IST

शादीशुदा जिंदगी में हर चीज का संतुलन होना जरूरी है। कई बार आर्थिक संकट की वजह से रिश्ता खराब होने लगता है। इससे बचने के लिए यह जरूरी है कि दोनों मिल-जुलकर भविष्य के लिए बचत करें ताकि विपरीत परिस्थितियों में किसी प्रकार की परेशानी न हो।
निर्धारित कर लें लक्ष्य: आप बचत के लिए एक समय निर्धारित कर सकते हैं। यदि पहले प्रयास में लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाए तो निराश न हों क्योंकि आपने शुरुआत कर दी है। अगली बार जब लक्ष्य तक पहुंच जाएं तो इसके लिए अपने साथी को धन्यवाद और श्रेय देना न भूलें।
जिम्मेदारी: बचत, आप दोनों की जिम्मेदारी है। आपसी समझ से इसका अनुपात तय कर सकते हैं। यह अनुपात दोनों के हिस्से में ही बराबर या जरूरत के अनुसार कम, ज्यादा हो सकता है।
साथी को हो जानकारी: आपने बचत के उद्देश्य से कोई बैंक अकाउंट खुलवाया है तो इसके बारे में अपने साथी को बताएं और इसका नोमिनी भी उन्हें बना सकते हैं। इसी तरह से किसी अन्य प्रकार के निवेश के बारे में भी आपके साथी को पता होना चाहिए ताकि वह आपको उससे जुड़े लाभ और हानि जैसे तथ्यों के बारे में बता पाएं।
स्कीम बताएं: साथी के बचत के तरीके से परेशानी है तो महीने या वर्ष के अंत में झगडऩे से अच्छा है कि इस पर बात की जाए। आप उन्हें बचत के तरीकों या स्कीम के बारे में समझाएं। हो सकता है कि साथी उन बिंदुओं को भी देख पा रहे हों, जिनकी ओर आपका ध्यान अब तक नहीं गया है।
इमरजेंसी: किसी आकस्मिक परिस्थिति में बचत के पैसों को इस्तेमाल करना पड़ रहा है तो इस बारे में अपने साथी को बताएं। यह आप दोनों के साझा प्रयासों की बचत है इसलिए जानकारी जरूरी है।

Kiran Kaur Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned