स्कूल की क्रमोन्नति ली वापस, विद्यार्थी और अभिभावक परेशान

स्कूल खोलना पड़ा महंगा, निदेशक ने कक्षा 9 से 12 की क्रमोन्नति वापस ली, प्रारंभिक स्तर की मान्यता निरस्त करने को लिखा, पास के स्कूल में होगा विद्यार्थियों का दाखिला, जयपुर के गजसिंहपुरा क्षेत्र के निजी स्कूल का मामला, कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए एहतियात के तौर बंद करे हैं स्कूल

जयपुर। कोरोना महामारी पर एडवाइजरी जारी होने के बाद राज्य सरकार द्वारा सभी स्कूल व शिक्षण संस्थान बंद करने के आदेश की अवहेलना करना जयपुर के एक निजी स्कूल को भारी पड़ गया। गजसिंहपुरा स्थित शक्ति शिक्षा एकेडमी की पांचवीं कक्षा तक की मान्यता निरस्त करने के लिए निदेशक माध्यमिक शिक्षा ने निदेशक प्रारंभिक शिक्षा को लिखा है। साथ ही माध्यमिक और उच्च माध्यमिक कक्षाओं की क्रमोन्नति प्रत्याहारित कर ली गई। अब इस स्कूल के विद्यार्थियों का पास के स्कूल में प्रवेश कराया जाएगा। निदेशक माध्यमिक शिक्षा सौरभ स्वामी ने बताया कि इस स्कूल के विद्यार्थियों का पास के स्कूलों में प्रवेश दिलाया जाएगा। इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी को जिम्मेदारी दी है।

ऐसे परेशान हो रहे अभिभावक
अब इस स्कूल के विद्यार्थी और अभिभावक परेशान हो रहे हैं कि आखिर उनका प्रवेश कहां और कैसे होगा। अभिभावकों का कहना है कि स्कूल की गलती का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा। यदि विद्यार्थी नए स्कूल में प्रवेश लेते हैं तो उन्हें आर्थिक नुकसान भी होगा। नए स्कूल की यूनिफार्म, एडमिशन फीस आदि सभी का अतिरिक्त भार अभिभावकों पर पड़ेगा।

ये है मामला
गौरतलब है कि जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय माध्यमिक शिक्षा रामचंद्र पिलानिया ने गुरुवार को स्कूल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्कूल में छोटी कक्षाओं की परीक्षा चल रही थी। इस पर जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूल संचालक से समझायश भी की,लेकिन वे नहीं माने। अंत में जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूल की मान्यता निरस्त करने के लिए निदेशक माध्यमिक शिक्षा से अनुशंषा की, इस पर निदेशक माध्यमिक शिक्षा सौरभ स्वामी ने गुरुवार शाम को स्कूल की कक्षा 9 से 12 की क्रमोन्नति को प्रत्याहारित कर लिया और प्रारंभिक स्तर की मान्यता समाप्त करने के निर्देश निदेशक प्रारंभिक शिक्षा को दिए।

मंत्री ने भी दिए जांच के आदेश
शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और जांच के आदेश भी दिए। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना महामारी के संक्रमण को लेकर गंभीर है| उन्होंने बताया कि गजसिंहपुरा स्थित शक्ति शिक्षा एकेडमी सीनियर सैकण्डरी स्कूल का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान वहां परीक्षाएं चल रही थी। जिला शिक्षा अधिकारी रामचंद्र पिलानिया ने बताया कि छोटी कक्षाओं की परीक्षा चल रही थी। जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय ने निदेशक माध्यमिक शिक्षा बीकानेर को स्कूल की मान्यता निरस्त करने की अभिशंषा की है। उन्होंने बताया कि स्कूल की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी कराई गई है। मंत्री ने बताया कि यदि कोई भी स्कूल इस तरह आदेशों की अवहेलना करता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

MOHIT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned