महामारी के बीच राजस्थान में शिक्षा विभाग ने उठाया बड़ा कदम, लाखों शिक्षकों को बुलाया, अब छात्रों की तैयारी

Government schools open from Today in rajasthan...64 हजार दो सौ से भी ज्यादा सरकारी स्कूल हैं। इनमें प्राथमिक और उच्च प्राथमिक के साथ ही तमाम स्कूल शामिल हैं। इन स्कूलों में करीब तीन लाख से भी ज्यादा शिक्षक पढ़ाते हैं।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 24 Jun 2020, 11:54 AM IST


जयपुर
प्रदेश में कोरोना हर दिन नए रिकॉर्ड बना रहा है, हर रोज मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। लेकिन इस बीच आज से प्रदेश के सरकारी स्कूल खुल रहे हैं। राजस्थान संभवत: देश में पहला राज्य होगा जहां सरकारी स्कूलों को खोल दिया गया है। हांलाकि स्कूलों को तय शिक्षा पंचाग के अनुसार ही खोला गया है लेकिन इन स्कूलों में आज से लाखों शिक्षकों की आवाजाही शुरू हो जाएगी और जल्द ही छात्रों को भी नियमानुसार बुलाने की योजना पर काम चल रहा है। आज से स्कूल खुलने के बाद अब संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया है।

64 हजार से ज्यादा सरकारी स्कूल हैं प्रदेश में
राजस्थान में करीब 64 हजार दो सौ से भी ज्यादा सरकारी स्कूल हैं। इनमें प्राथमिक और उच्च प्राथमिक के साथ ही तमाम स्कूल शामिल हैं। इन स्कूलों में करीब तीन लाख से भी ज्यादा शिक्षक पढ़ाते हैं। शहरों में स्थित उच्च प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों की संख्या काफी ज्यादा है। राजस्थान में पिछले सात से आठ दिन के दौरान कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं ऐसे में स्कूल खोलने के फैसले को लेकर अब सरकार भी पसोपेश में है। सरकार ने नियमों के अनुसार स्कल तो खोल दिए हैं लेकिन शिक्षकों के आवागमन से संक्रमण का डर भी बढ़ रहा है। हालाकिं शिक्षकों को सभी नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

स्कूलों में चल रहे हैं दसवीं बारहवीं के एग्जाम
प्रदेश के करीब चालीस प्रतिशत से भी ज्यादा स्कूलों में फिलहाल दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं जारी है। ये परीक्षाएं भी इस महीने के अंत तक पूरी हो जांएगी और उसके बाद एक जुलाई से नया सैशन शुरू हो जाएगा। शिक्षा विभाग के पंचाग के अनुसार एक जुलाई से सभी स्कूलों में छात्रों को बुलाया जाता है। लेकिन इस बार अब सरकार केंद्र की ओर से आने वाली गाइडलाइन पर नजर बनाए है। केंद्र की ओर से आने वाली गाइड लाइन के अनुसार ही स्कूलों में बच्चों को एंट्री दी जाएगी।

निजी विद्यालय पूरी तरह से बंद
इस बीच प्रदेश भर में अधिकतर निजी विद्यालय पूरी तरह से बंद हैं। न तो इनमें शिक्षकों को बुलाया जा रहा है और न ही छात्रों को। हांलाकि अधिकतर विद्यालयों के शिक्षक आनलाइन पढ़ाई ही करा रहे हैं। नया सैशन कब से शुरू किया जाए इसे लेकर निजी विद्यालय भी सरकार के निर्देशों के इंतजार में हैं। गौरतलब है कि प्रदेश में करीब एक लाख से भी ज्यादा निजी विद्यालय हैं।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned