राजस्थान में सड़कों पर उतर लोगों ने जताया विरोध

Mohan Murari | Publish: Sep, 06 2018 12:09:47 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

कई स्थानों पर लोगों ने स्वेच्छा से रखा बंद

सवर्ण समाज का भारत बंद
राजस्थान में बंद का दिखा व्यापक असर

जयपुर। एससी—एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ सवर्ण व ओबीसी समाजों की ओर से बुलाया गए बंद का राजधानी जयपुर सहित पूरे प्रदेश में असर नजर आया। गुलाबी नगर जयपुर में जहां बंद का मिला—जुला असर दिखा वहीं प्रदेश के बाकी हिस्सों में बंद सफल नजर आया। बारां में सड़कों पर उतरे सवर्ण समाज के लोगों ने सड़कों पर टायर जाल कर नारेबाजी की और इस संशोधन को वापस लेने की मांग की। इसी तरह पुष्कर में सवर्ण समाज के लोगों ने बाजार बंद रख कर रैली निकाली। झुंझुनूं के बुहाना में भी लोगों ने बाजार बंद कर रैली निकाली। सीकर में आवश्यक सेवाओं को भी बंद रखा गया।

सवर्ण समाज में दिखा आक्रोश

एससी—एसटी एक्ट में किए गए संशोधन को लेकर आज बुलाए गए भारत बंद के दौरान सवर्ण समाज सहित ओबीसी समाजों में खासा रोष देखा गया। लोगों ने सड़कों पर उतर कर जमकर प्रदर्शन किया और स्वेच्छा से बाजार बंद रखे।

पुष्कर संपूर्ण बाजार बंद
पुष्कर में एससी एसटी एक्ट संशोधन के खिलाफ भारत बंद का आह्वान का समर्थन करते हुए आज बस स्टैंड से लेकर ब्रह्मा मंदिर तक का करीब 2 किलोमीटर का पूरा बाजार बंद हो गया है। सैकड़ों की संख्या में तीर्थ पुरोहित स्वर्ण एकता जिंदाबाद काला कानून वापस लो के नारे लगाते हुए तीर्थराज पुष्कर में बाजार बंद कराने निकले। रोहित एवं स्थानीय नागरिकों के बाजार बंद के आह्वान पर दुकानदारों ने आगे से आगे अपनी दुकान का शटर डाउन करने शुरू कर दिए और देखते ही देखते नवखंड हनुमान मंदिर से लेकर ब्रह्मा मंदिर तक का पूरा बाजार पूरी तरह से बंद हो गया है। पुलिस उप अधीक्षक ग्रामीण नेमीचंद खारिया पुलिस जाप्ता मौके पर मौजूद। हल्के विरोध के बीच दुकानदारों ने अपने बाजार की दुकानें बंद कर दी। पुष्कर में यह पहला मौका है जब दुकानदारों ने स्वेच्छा से बंद का समर्थन करते हुए अपने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद कर दिए। बंद के दौरान बंद कराने के लिए समर्थक काफी उत्तेजित थे वही उन्होंने पुष्कर के नागरिकों व्यापारियों का बंद समर्थन के लिए आभार जताया।

वल्लभनगर सहित आसपास के गांवों में बंद रहे बाजार
वल्लभनगर कस्बे में एसटी एससी एक्ट संशोधन के विरोध में भारत बंद रखने के आव्हान पर स्वर्ण सहित सर्व समाज ने शांतिपूर्ण तरीके से बंद का समर्थन करते हुए बाजार बंद रखे। वल्लभनगर कस्बे में सर्व समाज एवं विभिन्न संगठनों एवं व्यापारियों ने सुबह से अपने अपने प्रतिष्ठानों को नही खोलते हुए भारत बंद को समर्थन दिया। इसके चलते कसबे के डांगीयो का चौराया, कुलमियो का चौराहा, तहसील रोड, सदर बाजार, वेलकम मार्किट, दशहरा चौक, कबूतर चौक, बाईपास चौराहा, बस स्टैंड सुबह से सुनसान दिखाई देकर सन्नाटा पसरा रहा। वही आपातकालीन इकाई चिकित्सा व्यवस्थाओं में अस्पताल, मेडिकल व आयुर्वेदिक अस्पताल, दवाइयों की दुकानों को बंद से बाहर रखा गया। इसके बाद वल्लभनगर व्यापार मंडल व सर्व समाज के विभिन्न संगठनों द्वारा उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन दिया गया। इधर भटेवर कसबे में भी भारत बंद के आव्हान पर आंशिक रूप से बाजारों में कपड़े, ज्वेलर्स की छूट पुट दुकाने बंद रही।

बुहाना में भी बंद का असर देखा गया। व्यापारियों ने दुकानें स्वेच्छा से बंद की। अस्पताल, क्लीनिक व दवाइयों की दुकानों को बंद से रखा गया है। रेवारी धर्मशाला में की गई बैठक आयोजित करणी सेना के आव्हान पर किया गया है बंद एक्ट में संशोधन को वापस लेने के लिए राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन भाजपा नेता रतन सिंह तवर, करणी सेना के अध्यक्ष गिरवर सिंह सहित अन्य संगठनों के पदाधिकारी बंद में रहे शामिल।

रामगंजमंडी में बन्द समर्थकों ने जुलूस निकाला
रामगंजमंडी में भी स्वर्ण समाज का गुस्सा फुटकर सड़कों पर आ गया। भारत बंद के समर्थन में लोगों ने अपनी इच्छा से दुकाने बंद रखी। बन्द समर्थकों का समूह किसी दुकान पर बन्द कराने नहीं पहुचे। शहीद स्मारक से इस दिन बन्द समर्थकों के समूह ने जुलूस निकाला जिसमे काला कानून वापस लेने व आरक्षण समाप्त करने के नारे लगाए गए। तहसीलदार राधेश्याम मीणा को ज्ञापन सौंपा।
सीकर में बंद के दौरान आवश्यक सेवाएं भी बंद रही। मेडिकल स्टोर के साथ पेट्रोल पंप भी बंद नजर आए।

बारां में सड़कों पर टायर जलाए
बारां में बंद का व्यापक असर देखा गया। सवर्ण समाज के आक्रोशित लोगों ने सड़कों पर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बारां में बंद सफल नजर आया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned