राजस्थान में कोरोना वायरस को लेकर लगाई गई धारा 144 को कुछ यूं समझें

कानून व्यवस्था नियंत्रण के लिए लगाई गई धारा 144 और मेडिकल इमरजेंसी को लेकर लगाई गई धारा 144 में फर्क है।

By: kamlesh

Published: 19 Mar 2020, 02:38 PM IST

जयपुर। कानून व्यवस्था नियंत्रण के लिए लगाई गई धारा 144 और मेडिकल इमरजेंसी को लेकर लगाई गई धारा 144 में फर्क है।

कानून-व्यवस्था:
पांच या पांच से अधिक लोग सार्वजनिक स्थानों पर एकत्रित नहीं हो सकते।

मेडिकल इमरजेंसी
इस धारा के तहत 20 या इससे अधिक लोग सार्वजनिक स्थानों पर एक साथ एकत्र नहीं हो सकते।

धार्मिक स्थलों पर क्या व्यवस्था रहेगी?
मंदिर—मस्जिद या अन्य धार्मिक स्थलों को शामिल किया गया है। यहां 20 या इससे अधिक श्रद्धालुओं के इकट्ठे होने पर पाबंदी रहेगी।

सार्वजनिक पार्क में धूमने वालों का क्या?
सार्वजनिक पार्क में भी ये पाबंदी लागू रहेगी। यदि यहां लोग बैठक या अन्य कोई गतिविधि के लिए समूह में जमा नहीं हो पाएंगे।

किन स्थानों को धारा 144 से बाहर रखा गया है?
सरकारी कार्यालय, एयरपोर्ट, बस स्टेंड, रेलवे स्टेशन, हॉस्पिटल एवं अन्य मेडिकल सुविधा क्षेत्र बैंक,पोस्ट ऑफिस, स्कूल— कॉलेज के परीक्षा केंद्र इस धारा में शामिल नहीं।

निजी दफ्तर फैक्ट्रियों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों में क्या ये धारा लागू है?
ऐसी जगह सार्वजनिक स्थानों में नहीं शामिल हैं। कर्मचारियों, श्रमिकों के कार्यस्थल पर आने या नहीं आने पर संबंधित प्रबंधन को फैसला करना है।

शव यात्रा या अन्य अपवाद स्वरुप स्थितियों में क्या व्यवस्था?
सरकार ने अपवाद की स्थितियों में छूट का प्रावधान किया है। ऐसे में हालात में संबंधित कलक्टर या कमिश्नर से स्वीकृति के लिए आवेदन किया जा सकता है।

पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्त व कलक्टर जोगाराम के मुताबिक

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned