चाचा के हाथ पर मां का नाम देखकर भतीजे ने दोस्त के साथ कर दी हत्या

भांकरोटा थाना इलाके का मामला

By: Lalit Tiwari

Published: 29 Jul 2021, 09:40 PM IST

मां का नाम चाचा के हाथ पर गुदा हुआ देखकर भतीजे ने दोस्तों के साथ मिलकर चाचा की हत्या कर दी। हत्या के बाद लाश को नाईवाला के पास एक टीले पर गढ्ढा खोदकर गाढ़ दिया। इसी दौरान ग्रामीणों ने उन्हें लाश दबाते देखकर पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पूछताछ के बाद भतीजे और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मृतक का सीएचसी बगरू में पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया।
डीसीपी (पश्चिम) प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि 28 जुलाई को पुलिस कंट्रोल रुम से सूचना मिली थी कि गांव नाईवाला में जेडीए की आनन्द विहार आवासीय कॉलोनी के पास जंगल में चार लोग कार से एक आदमी की लाश को लेकर आए हैं। और उसकी लाश को मिट्टी में गढ्ढा खोदकर गाढ़ रहे है। सूचना पर पुलिस मौक पर पहुंची वहां ग्रामीणों ने दो लोगों को पकड़ रखा था। पुलिस टीम ने पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जिसमें उन्होंने चाचा की हत्या करना कबूल कर लिया। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी मनसा नगर सिरसी रोड निवासी राज अग्रवाल (20) पुत्र रवि कुमार और जसवंत नगर खातीपुरा वैशाली नगर निवासी प्रकाश अग्रवाल (20) पुत्र मनोज अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया।

चाचा की हत्या कर छिपाने जा रहे थे लाश-
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि 27 और 28 जुलाई को उसने मनसा नगर सिरसी रोड निवासी चाचा शशि कुमार अग्रवाल (44) की हत्या कर दी थी। उनकी लाश को छिपाने के लिए अपने दोस्तों के साथ में लेकर किराए की कार बुकिंग कर लाश को ठिकाने लगाने और छिपाने के लिए कार को किराए पर लेकर घूमते रहे और यहां पर सुनसान झाड़ियों के बीच जमीन में गढ्ढा खोदकर गाढ़ दिया था। उसी समय आस-पास के गांव के लोगों ने देख लिया और उन्हें पकड़ लिया। पूछाछ में राज अग्रवाल और उसके साथी प्रकाश ने बताया कि उसने अपने अन्य साथियों के साथ हत्या करना बताया और सबूत मिटाकर उनकी लाश की जंगल में लाकर गढ्ढा खोदकर गाढ़ देना बताया। घटना की जानकारी राज अग्रवाल ने ताऊजी महेश कुमार अग्रवाल को दी थी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर मिट्टी के टीले से मृतक शशि कुमार अग्रवाल का दबाया हुआ शव बरामद कर लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपी राज ने बताया कि उसके चाचा ने उसकी मां का नाम अपने हाथ में गुदवा लिया था, जिससे वह नाराज चल रहा था।

शव गलाने के लिए डाला नमक
शशि अग्रवाल की हत्या के आरोपियों ने लाश को ठिकाने लगाने के लिए गड्ढा खोदकर शव को उसमें डालकर ऊपर नमक डालकर कपड़ों से ढक्कर मिट्टी में दबा दिया ताकि शव आसानी से गलकर नष्ट हो जाए। पुलिस को गढ्ढे से मृतक के कपड़े, बैल्ट, नमक की थैलियां मिली है। पुलिस को शव के सिर पर चोट के निशान भी मिले है। हत्यारों ने मृतक के सिर को पोलीथीन की थैली पहना रखी थी ताकि खून बिखरे नहीं।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned