नेपाल की सविता का जयपुर में कारनामा, मात्र 10 दिन में व्यापारी को पत्नी सहित पहुंचाया अस्पताल

विद्याधर नगर थाने में दर्ज हुआ मामला, 10 दिन पहले रखी नौकरानी ने दम्पत्ति को खिचड़ी में विषाक्त मिलाकर खिलाया, दम्पत्ति ने तबीयत बिगड़ी तो नजदीक रहने वाले भाई को फोन कर बुलाया, नौकरानी भी बोली मुझे घबराहट हो रही है और चुपचाप मोबाइल बंद कर भाग गई

By: pushpendra shekhawat

Published: 03 Apr 2021, 07:21 PM IST

मुकेश शर्मा / जयपुर। विद्याधर नगर में दस दिन पहले रखी नौकरानी ने एक दम्पत्ति को खिचड़ी में विषाक्त मिलाकर खिला दिया। दम्पत्ति की तबीयत बिगड़ी तो उन्होंने नजदीक रहने वाले अपने परिजनों को फोन कर बुला लिया। परिजनों पहुंचने पर नौकरानी सविता भी बोली कि उसे भी घबराहट हो रही है। परिजन दम्पत्ति को हॉस्पिटल में पहुंचाया, जहां पर उनको भर्ती कर लिया। पीछे से नौकरानी सविता भी अपना मोबाइल बंद कर भाग गई। विद्याधर नगर थाना पुलिस नेपाल निवासी नौकरानी को तलाश रही है।

अंबाबाड़ी निवासी गुलशन लाल गडिया ने नौकरानी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। गुलशन ने बताया कि करीब दस दिन पहले 10 वर्ष पुरानी नौकरानी के परिचित के जरिए उनके छोटे भाई वरूण और उसकी पत्नी नेहा ने नई नौकरानी रखी थी। वरूण का विश्वकर्मा में बैट्रियों का व्यापार है। एक अप्रेल की रात 8 बजे भाई ने फोन कर कहा कि पति-पत्नी की तबीयत बिगड़ रही है। कुछ दूरी पर घर होने पर वे तुरंत वहां पहुंच गए। तब घर पर नौकरानी भी तबीयत बिगडऩे का नाटक करने लगी। वरूण और नेहा को हॉस्पिटल लेकर जा रहे थे, तभी नौकरानी ने खुद का मोबाइल बंद कर लिया और घर से भाग गई।

नेपाल में आधार नहीं होता

गुलशन ने बताया कि नेपाल निवासी जिस परिचित के जरिए नौकरानी को काम पर रखा था, वह भी उसे नहीं जानता था। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि राह चलती नौकरानी से संपर्क हुआ था। उसने काम दिलाने की बात कही। तब नेपाल निवासी होने पर उसे काम पर रखवा दिया था। परिवार वालों ने बताया कि नौकरानी से उसके पहचान पत्र मांगे, तब उसने कहा कि नेपाल में आधार कार्ड नहीं होता है। वह खुद का पहचान पत्र मंगवा रही है और जल्द ही दे देगी। लेकिन दस दिन में भी उसने पहचान पत्र नहीं दिया था।

नौकर रखने से पहले रखें सावधानी

एडिशनल पुलिस कमिश्नर राहुल प्रकाश ने बताया कि कोई भी घरेलू नौकर रखने से पहले उसकी अच्छी तरह से तस्दीक कर लें। वह कहां का रहने वाला है और जयपुर में उसके कौन-कौन परिचित रहते हैं। उसका आपराधिक रिकॉर्ड की तस्दीक करें और पुलिस वेरिफिकेशन करवाएं।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned